सरकारी कर्मचारी अलर्ट: सरकार ने बदले सैलरी से जुड़े ये नियम, जानें क्या हुआ बदलाव

ऑफिस मेमोरेंडम में कहा गया है कि सातवें वेतन आयोग के मद्देनजर Central Government में सीधे भर्ती के जरिए अलग सेवा या कैडर में नए पद पर नियुक्त होने के बाद Employee को सैलरी की सुरक्षा यानी Pay Protection मिलेगा।

Pay Protection

Pay Protection

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए सैलरी की सुरक्षा को लेकर ऑफिस मेमोरेंडम (Memorandum) जारी किया गया है। DoPT द्वारा जारी किए गए ऑफिस मेमोरेंडम में कहा गया है कि सातवें वेतन आयोग के मद्देनजर Central Government में सीधे भर्ती के जरिए अलग सेवा या कैडर में नए पद पर नियुक्त होने के बाद Employee को सैलरी की सुरक्षा यानी Pay Protection मिलेगा। कर्मचारियों को यह सुरक्षा सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) के FR 22-B(1) के तहत दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: छत से कूदी छात्रा: मेडिकल कालेज में मचा हड़कंप, प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज

इन कर्मचारी को प्रोटेक्शन ऑफ पे की इजाजत

जारी ऑफिस मेमोरेंडम में कहा गया है कि सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की रिपोर्ट और CCS (RP) नियम-2016 के लागू होने पर राष्ट्रपति द्वारा FR 22-B(1) के तहत किए गए प्रावधानों के तहत दूसरी सेवा या कैडर में प्रोबेशनर के तौर पर केंद्र सरकार में नियुक्त हुए कर्मचारियों को प्रोटेक्शन ऑफ पे की इजाजत दी है। प्रोटेक्‍शन ऑफ पे हर हाल में केंद्रीय कर्मचारियों को वेतन सुरक्षा देगा। भले ही उनके पास ज्यादा जिम्मेदारी हो या नहीं। यह आदेश 1 जनवरी 2016 से प्रभावी माना जाएगा।

यह भी पढ़ें: छापेमारी से हिला राज्य: धड़ल्ले से निकला सोना-चांदी, इतने नकदी और जेवर हुए बरामद

रेफरेंसेस मिलने के बाद महसूस हुई जरूरत

ऑफिस मेमोरेंडम के मुताबिक, FR 22-B(1) के तहत प्रोटेक्शन ऑफ पे को लेकर मंत्रालयों/ विभागों से तमाम रेफरेंसेस मिलने के बाद ये जरूरत महसूस की गई कि केंद्र के ऐसे कर्मचारी, जो तकनीकी तौर पर इस्‍तीफा देने के बाद केंद्र सरकार में सीधे भर्ती के जरिए अलग सेवा या कैडर में नए पद पर नियुक्त होते हैं, उन्हें सातवें वेतन आयोग के तहत सैलरी निर्धारित करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए जाएं।

यह भी पढ़ें: लाशों से दहला देश: ऐसी हालत में यहां निकले 11 शव, सच्चाई जान हिल गए लोग

ऐसे कर्मचारियों के लिए है नियम

FR 22-B(1) के प्रावधानों में कहा गया है कि ये नियम उस सरकारी कर्मचारी की सैलरी को लेकर हैं, जो अलग सेवा या कैडर में प्रोबेशनर के तौर पर नियुक्त हुआ है और फिर बाद में उस सेवा में स्थायी तौर पर नियुक्त किया गया है।

यह भी पढ़ें: करीना कपूर बनेंगी मम्मी, जल्द आने वाला है तैमूर का छोटा भाई या बहन

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App