कोरोना: पीएम केयर्स फंड में सबसे बड़ा दान, जानिए किसने दिये 1031 करोड़ रुपए

कोरोना महामारी से निपटने के लिए बने प्रधानमंत्री केयर्स फंड में लोग खूब दान कर रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार, टाटा कंपनी समेत कई लोगों ने दान दिया है। अब डोनेट करने वालों की लाइन लगी है।

नई दिल्ली: कोरोना महामारी से निपटने के लिए बने प्रधानमंत्री केयर्स फंड में लोग खूब दान कर रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार, टाटा कंपनी समेत कई लोगों ने दान दिया है। अब डोनेट करने वालों की लाइन लगी है।

अब इस बीच पेट्रोलियम मंत्रालय के तहत आने वाली पब्लिक सेक्टर कंपनियों ने कोरोना संकट के मद्देनजर पीएम केयर्स फंड में अब तक का सबसे बड़ा योगदान 1031.29 करोड़ रुपये जमा किया है। ये पैसा इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम, ओएनजीसी जैसी कंपनियों ने इकट्ठा की है।

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन में ऑनलाइन होगी पढ़ाई, बिना परीक्षा पास होंगे इस क्लास के छात्र

पेट्रोलियम और गैस विभाग के मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया है कि इस पैसे के अलावा इन कंपनियों के कर्मचारियों और अधिकारियों ने भी अपनी ओर से 61 करोड़ रुपये जुटाकर कोष में अनुदान दिए हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद लोग लगातार मदद के लिए आगे आ रहे हैं। कई बड़ी हस्तियों ने पीएम केयर्स फंड में मदद राशि जमा कराई है। यह सिलसिला जारी है।

यह भी पढ़ें…यहां 300 कोरोना संक्रमित! पूरे इलाके की घेराबंदी, डॉक्टर-WHO की टीम मौजूद

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की है कि अब सीएसआर यानी कॉरपोरेट सोशल रेस्पॉन्सिबिलिटी के फंड भी पीएम केयर्स फंड में जमा कराए जा सकते हैं। इसे लेकर कंपनी मामलों के मंत्रालय ने अधिसूचना भी जारी कर दी है।

दरअसल सीएसआर कंपनियों की एक पहल है, जिसके तहत वे समाज की भलाई के लिए अपना कुछ दायित्व निभाती हैं और इसके फंड के तहत समाज कल्याण के लिए अलग-अलग अभियान चलाए जाते हैं। कंपनी अपने कस्टमर, एम्प्लॉई, शेयरहोल्डर, अलग-अलग समुदाय और पर्यावरण के हित में फंड खर्च करती हैं।

यह भी पढ़ें…शिवराज सरकार का बड़ा कदम: करीब 8 लाख मजदूरों को दी ये सौगात

इस फंड में कंपनियों को अपना धन जमा करना होता है। वित्त मंत्रालय ने अब इस फंड को पीएम केयर्स फंड में राशि देने की इजाजत दे दी है। इससे कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही मुहिम में सरकार को मदद मिलेगी। इसके साथ ही लोगों पर किए जा रहे खर्च में भी इस फंड से सहायता मिलेगी।