×

लॉकडाउन के बाद स्कूल की छुट्टियों पर सरकार का बड़ा फैसला

लॉकडाउन में शैक्षणिक संस्थाओं स्कूल-कॉलेज को बंद रखा गया है। जिस वजह से बच्चों की पढ़ाई में काफी नुकसान हो रहा है। लेकिन अब बच्चों की पढ़ाई में ज्यादा नुकसान न हो इसलिए सरकारी स्कूलों की छुट्टियों में कटौती की जाएगी।

Shreya
Updated on: 13 April 2020 4:50 AM GMT
लॉकडाउन के बाद स्कूल की छुट्टियों पर सरकार का बड़ा फैसला
X
लॉकडाउन के बाद स्कूल की छुट्टियों पर सरकार का बड़ा फैसला
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देश को लॉकडाउन रखा गया है। ऐसे में शैक्षणिक संस्थाओं स्कूल-कॉलेज को बंद रखा गया है। जिस वजह से बच्चों की पढ़ाई में काफी नुकसान हो रहा है। लेकिन अब बच्चों की पढ़ाई में ज्यादा नुकसान न हो इसलिए सरकारी स्कूलों की छुट्टियों में कटौती की जाएगी।

छुट्टियों में की जाएगी कटौती

स्कूलों में शैक्षणिक दिवस (Academic day) को पूरा करने के लिए बारिश, दिवाली समेत कई छुट्टियों में कटौती की जाएगी। शर्दियों में स्कूल करीब डेढ़ महीने और गर्मियों में करीब 1 महीने तक बंद रहने की वजह से आगे की छुट्टियों में कटौती करने को लेकर सरकार की मंजूरी भी मिल गई है। अब शिक्षा विभाग (Education Department) इसे लेकर योजना बनाने में जुट गया है।

छुट्टियों के चलते रीब डेढ़ माह तक पढ़ाई प्रभावित हुई

शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा, किन्नौर, लाहौल-स्पीति समेत अन्य जिलों में स्थित शीतकालीन स्कूलों में 20 फरवरी से नया सेशन (Academic session) शुरु किए गए हैं। वहीं प्रदेश में 16 मार्च से सभी स्कूलों को पहले 31 मार्च और फिर बाद में 14 अप्रैल तक बंद कर दिया गया। आज लॉकडाउन पर फैसला होने के साथ-साथ छुट्टी की अवधि और भी बढ़ सकती है। जिसके चलते शीतकालीन स्कूलों में करीब डेढ़ माह तक पढ़ाई प्रभावित हुई है।

यह भी पढ़ें: उत्तर कोरिया: कोरोना के खिलाफ लड़ाई तेज, तानाशाह कर सकता है ये बड़ा एलान

लॉकडाउन के चलते नहीं शुरु हुआ नया सेशन

आपक बता दें कि ग्रीष्मकालीन स्कूलों में अप्रैल के पहले हफ्ते से नया अकेडमिक सेशन शुरु किया जाना था, लेकिन लॉकडाउन के चलते नया सत्र शुरु नहीं हुआ। अब बच्चों की प्रभावित हुई पढ़ाई की भरपाई आने वाले छुट्टियों में कटौती करके की जाएगी।

अधिकारी तैयार कर रहे हैं शेड्यूल

विभागीय अधिकारियों ने जानकारी दी कि कौन सी छुट्टियां कम करके शैक्षणिक दिवस पूरे किए जाएंगे, इसे लेकर योजना तैयार की जा रही है। लॉकडाउन हटने के बाद और हालात सामान्य होने के बाद जब स्कूल खुलेंगे तो सरकार की मंजूरी के बाद इसका शेड्यूल जारी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन: सरकारी समिति ने गृह मंत्रालय को दिए सुझाव, खोलें जाएं ये सेक्टर

यूनिवर्सिटी का बिगड़ा पूरा शेड्यूल

वहीं कोरोना की वजह से एचपीयू को बंद रखे जाने के चलते यूनिवर्सिटी का पूरा शेड्यूल बिगड़ता गया। लॉकडाउन की वजह से ग्रेजुएशन की सेमेस्टर और ईयर एंड इग्जाम्स के साथ ही स्नातकोत्तर परीक्षाएं एक से डेढ़ महीने आगे चली जाएंगी। इससे PG की एडमिशन प्रोसेस अगस्त से आगे चली जा सकती है। वहीं अगर 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रहता है तो इससे यूनिवर्सिटी 1 मई को खुलेंगी।

यूनिवर्सिटी खुलने के बाद परीक्षाओं की तैयारी के लिए तकरीबन 15 दिन का वक्त चाहिए। ऐसे में 16 अप्रैल से होने वाली स्नातक की परीक्षाएं 15 मई के बाद ही शुरू होंगी। इस एग्जाम यूजी आखिरी सेमेस्टर के करीब 30 से 35 हजार छात्र बैठेंगे।

यह भी पढ़ें: LOC पर भयानक मंजरः 3 नागरिकों की मौत, आर्मी ने मार गिराए पाकिस्तानी सैनिक

Shreya

Shreya

Next Story