×

India Top IT Companies: फ्रेशर्स के लिए खुशखबरी, मिलेगी बंपर नौकरिंया

भारत की टॉप 4 कंपनियों ने सामूहिक रूप से अगले वित्तीय वर्ष के लिए कैम्पस के जरिए 91 हजार लोगों को नौकरी देने की योजना बनाई है। इन कंपनियों में टीसीएस, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और विप्रो शामिल हैं। 

Shreya
Published on 19 Jan 2021 7:52 AM GMT
India Top IT Companies: फ्रेशर्स के लिए खुशखबरी, मिलेगी बंपर नौकरिंया
X
India Top IT Companies: फ्रेशर्स के लिए खुशखबरी, मिलेगी बंपर नौकरिंया
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी के चलते देशभर में लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हो गए। यही नहीं इस महामारी का असर लोगों की सैलरी पर भी पड़ा है। इस बीच भारत की टॉप 4 कंपनियों ने सामूहिक रूप से अगले वित्तीय वर्ष के लिए कैम्पस के जरिए 91 हजार लोगों को नौकरी देने की योजना बनाई है। क्योंकि लॉकडाउन कम होने के बाद मांग में तेजी आई है। इन कंपनियों में टीसीएस, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और विप्रो शामिल हैं।

क्या है इन कंपनियों का कहना?

टीसीएस के कार्यकारी वीपी और वैश्विक एचआर हेड मिलिंद लक्कड़ ने कहा था कि कंपनी को उम्मीद है कि अगले साल भी उतने ही फ्रेशर्स (करीब 40 हजार) को काम पर रखा जा सकेगा, जितनों को इस साल रखा गया। वहीं इंफोसिस ने कहा कि वह अगले वित्तीय वर्ष में भारत में 24 हजार कॉलेज स्नातकों की नियुक्ति करेगा, जो कि 15 हजार से चालू वित्त वर्ष के लिए योजनाबद्ध थे। जबकि एचसीएल टेक्नोलॉजीज के प्रमुख एचआर अधिकारी अप्पाराव वीवी ने कहा कि काम की गति बढ़ने की कई वजह हैं।

यह भी पढ़ें: शिक्षा मंत्री निशंक ने छात्रों से किया संवाद, 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा पर दिए अपेडट

JOB (फोटो- सोशल मीडिया)

एचसीएल 15 हजार फ्रेशर्स को देगी मौका

उन्होंने कहा कि बीते साल हमारी मैनपावर में 70 फीसदी वृद्धि भारत में और 30 फीसदी भारत से बाहर की थी। इस साल यह लगभग करीब 90-10 पर्सेंट होगी। हम भारत में विशैल रैंप-अप देखते हैं। बता दें कि एचसीएल ने 31 मार्च, 2022 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष में भारत में 15 हजार फ्रेशर्स और 1500 से दो हजार लोगों को नौकरी पर रखने की योजना तैयार की है।

यह भी पढ़ें: खुले स्कूलः बच्चे क्लासेज के लिए तैयार, इन नियमों का पालन होगा जरुरी

एसएफजी यानी सक्सेना फाइनेंशियल ग्रुप के जेम्स फ्रीडमैन ने कहा कि जहां बड़े सौदे होते हैं, वहां भारत का माइंडशेयर एक बार फिर से बढ़ रहा है। वहीं विप्रो ने अगले कुछ महीनों के अंदर आईटी सेक्टर में टैलेंट वॉर खुलने की संभावना जताई है, क्योंकि कंपनियों ने बीते दो तिमाहों में हायरिंग को आगे बढ़ाया है।

यह भी पढ़ें: NITI Aayog 2021: मिल रही बंपर सरकारी नौकरियां, छात्र जल्दी करें आवेदन

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story