छात्रों के लिए बड़ी खबर! सरकार ने बताया, कब खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

कोरोना वायरस का मामला देशभर में तेजी से बढ़ रहा है। इस जानलेवा वायरस से निपटने के लिए लाॅकडाउन किया गया है। अब लोगों को इंताजर है कि लॉकडाउन कब खुलेगा। लोगों को यह भी डर सता रहा है कि कहीं लॉकडाउन की अवधि बढ़ेगी तो नहीं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का मामला देशभर में तेजी से बढ़ रहा है। इस जानलेवा वायरस से निपटने के लिए लाॅकडाउन किया गया है। अब लोगों को इंताजर है कि लॉकडाउन कब खुलेगा। लोगों को यह भी डर सता रहा है कि कहीं लॉकडाउन की अवधि बढ़ेगी तो नहीं। इस बीच जो सवाल सबसे ज्यादा पूछा जा रहा है, वो ये कि स्कूल-कॉलेज कब से खुलेंगे?

देशभर के छात्रों और उनके माता पिता के मन में यही सवाल उठ रहे हैं, क्योंकि नए शैक्षणिक सत्र का समय बीता जा रहा है। बोर्ड समेत कई महत्वपूर्ण परीक्षाएं, एडमिशन प्रक्रिया थमी हुई है। ये सब तभी शुरू होंगी जब स्कूल-कॉलेज खुलेंगे।

यह भी पढ़ें…अल्पसंख्यकों का ध्यान रखने आगे आए ये पाकिस्तानी खिलाड़ी, ऐसे कर रहे मदद

तो वहीं अब इस सवाल का सरकार की ओर से जवाब दिया गया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने लोगों के इस सवाल का जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा सरकार के लिए सबसे अहम है। इस देश में करीब 34 करोड़ छात्र हैं। ये आंकड़ा अमेरिका की जनसंख्या से ज्यादा है। ये स्टूडेंट्स हमारी सबसे बड़ी पूंजी हैं।

यह भी पढ़ें…कनिका की छठी रिपोर्ट आई सामने: जीती कोरोना से जंग, लेकिन मुश्किल में अब भी…

उन्होंने कहा कि ऐसे में इस वक्त ये फैसला ले पाना मुश्किल है कि लॉकडाउन के तुरंत बाद स्कूल-कॉलेज खोले जाएंगे या नहीं। सरकार ने फैसला किया है कि 14 अप्रैल को हालात की समीक्षा की जाएगी। उसके आधार पर ही फैसला होगा कि स्कूल-कॉलेज तुरंत खोले जाएंगे या आगे भी कुछ और समय के लिए बंद रहेंगे।

यह भी पढ़ें…इस दिग्गज खिलाड़ी को ‘शतरंज से मिली क्रिकेट में मदद, ऐसे सीखा बल्लेबाज…

इसके साथ ही रमेश पोखरियाल निशंक ने आश्वस्त किया है कि अगर 14 अप्रैल के बाद भी स्कूल-कॉलेज बंद रहते हैं, तो उनका मंत्रालय ये सुनिश्चित करेगा कि इससे स्टूडेंट्स का नुकसान न हो।