बिहार: सुशांत सिंह राजपूत 17 साल बाद अपने घर पूर्णिया आए, कराया मुंडन संस्कार

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अपने पैतृक गांव बी कोठी प्रखंड के मलडीहा पहुंचे। धारावाहिक ‘पवित्र रिश्ता’ से बॉलीवुड में कदम रखने वाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत, अपने चचेरे भाई और छातापुर के निवर्तमान विधायक नीरज कुमार सिंह ‘बबलू’ और भाभी नूतन सिंह जोकि बिहार विधान परिषद की सदस्य भी हैं, के साथ गांव पहुंचे।

मुम्बई: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अपने पैतृक गांव बी कोठी प्रखंड के मलडीहा पहुंचे। धारावाहिक ‘पवित्र रिश्ता’ से बॉलीवुड में कदम रखने वाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत, अपने चचेरे भाई और छातापुर के निवर्तमान विधायक नीरज कुमार सिंह ‘बबलू’ और भाभी नूतन सिंह जोकि बिहार विधान परिषद की सदस्य भी हैं, के साथ गांव पहुंचे।

यहां उन्होंने कुल देवी-देवता, ग्राम देवता और ऐतिहासिक बाबा बरूनेशवर मंदिर में पूजा अर्चना की। टीवी धारावाहिक ‘पवित्र रिश्ता’ से दमदार छवि बनाने तथा लोकप्रियता हासिल करने वाले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 17 सालों के बाद अपने पैतृक गांव बड़हरा कोठी प्रखंड के मलडीहा गांव पहुंचे।

यह भी देखें…. विश्व परिवार दिवस आज: परिवार को एक सूत्र में बांधे रखना है, सबकी जिम्मेदारी

इस अवसर पर गांव और क्षेत्र के लोगों द्वारा अपने हरदिल अजीज अभिनेता का जोरदार स्वागत किया गया। जैसे ही लोगों को अभिनेता के गांव आगमन की सूचना मिली उनके फैन्स एक झलक पाने को मलडीहा पहुंचने लगे।

यहां हर कोई सेल्फी और ऑटोग्राफ लेने को बेताब दिखे। इस अवसर पर गांव और क्षेत्र के लोगों द्वारा अपने हरदिल अजीज अभिनेता का जोरदार स्वागत किया गया। जैसे ही लोगों को अभिनेता के गांव आगमन की सूचना मिली उनके फैन्स एक झलक पाने को मलडीहा पहुंचने लगे। यहां हर कोई सेल्फी और ऑटोग्राफ लेने को बेताब दिखे।

यह भी देखें…. Priyanka Chopra Jonas के इंस्टाग्राम पर हुए 40 Million फॉलोवर्स, बनी पहली भारतीय सेलिब्रिटी

अभिनेता सुशांत भी यहां काफी सरल दिखे। सुशांत अपने फैन्स का ख्याल रखते हुए सबके भावनाओं का ख्याल रखते हुए सभी का अभिवादन करते हुए नजर आए।

रविवार लगभग 10 बजे अभिनेता के मंदिर पहुंचते ही उपस्थित श्रद्धालु उन्हें एक नजर देख लेने को बेताब दिखे। बरनेश्वर में सभी मंदिर में पूजा अर्चना करने के उपरांत अभिनेता ने सभी परिजनों के अलावा अपने फैन्स के साथ फोटो भी खिंचवाए।

यह भी देखें…. यूपी के अफसरों के लिए बड़ी खुशखबरी, 24 PCS प्रमोट होकर IAS बने

बाहर रहने के बाबजूद परिवार के लोग मैथिल संस्कृति को नहीं भूले हैं। बी कोठी में अपने घर पर कुल देवी की पूजा कर ननिहाल खगड़िया रवाना हुए। जहां उनका मुंडन समारोह हुआ। सुशांत सिंह राजपूत बौरणय के स्व. महेश्वर प्रसाद सिंह के नाती हैं।13 मई को पूर्वी बोरणय पंचायत के जयप्रभा नगर से नदी पार कर अपने ननिहाल बोरणय स्थान पहुंचे, जहाँ मां विषहरी स्थान में उनका मुंडन संस्कार हुआ।

शनिवार को अपने गांव पहुंचकर अपने सारे रिश्तेदार से मिले। गांव के लोगों ने उन्हें बचपन मे देखा था सहसा उन्हें एहसास नहीं हो रहा था कि पूर्णिया का छोरा इतने बड़े मुकाम पर पहुंच जाएगा। रविवार को वे अपने खेत और आम के बगीचा को देखने निकले वहां भी उनके फैंस ने पीछा नहीं छोड़ा। उन्होंने किसी को निराश नहीं किया सभी के साथ सेल्फी ली।

यह भी देखें…. दिल्ली में एक चौकीदार और लखनऊ में ठोकीदार है: अखिलेश यादव

सुशांत सिंह राजपूत पूर्णिया जिले के बी कोठी प्रखंड के रहने वाले है। उनके पिता सरकारी अधिकारी हैं। उनका परिवार सन् 2000 के शुरूआती समय में दिल्ली में बस गया। सुशांत की 4 बहनें भी हैं जिसमें से एक मीतू सिंह राज्य स्तर की क्रिकेट खिलाड़ी हैं।

सुशांत की शुरूआती पढ़ाई सेंट कैरेंस हाई स्कूल, पटना से हुई है और इसके आगे की पढ़ाई दिल्ली के कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल से हुई है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से उन्होंने मैकेनिल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की।