×

इस डायरेक्टर ने कहा था- कमल हासन में नहीं है एक्टिंग के गुण, फिर जो हुआ....

कमल हासन का जन्म 7 नवंबर 1954 को तमिलनाडु के परमकुडी में हुआ था।लंबे फिल्मी करियर में कमल ने कई सुपर हिट फिल्में दी है। सदमा से लेकर चाची 420 तक की फिल्मों में उनकी दमदार एक्टिंग के सब कायल है।  आज भी फिल्मों में सक्रिय है और फैंस को उनक पर्दे पर देखना अच्छा लगता है।

suman
Published on: 7 Nov 2019 10:10 AM GMT
इस डायरेक्टर ने कहा था- कमल हासन में नहीं है एक्टिंग के गुण, फिर जो हुआ....
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जयपुर: कमल हासन का जन्म 7 नवंबर 1954 को तमिलनाडु के परमकुडी में हुआ था।लंबे फिल्मी करियर में कमल ने कई सुपर हिट फिल्में दी है। सदमा से लेकर चाची 420 तक की फिल्मों में उनकी दमदार एक्टिंग के सब कायल है। आज भी फिल्मों में सक्रिय है और फैंस को उनक पर्दे पर देखना अच्छा लगता है। आखिरी बार उन्हे दशावतारम में देखा गया ।

*कहते हैं कि जब 70 के दशक में कमल संघर्ष कर रहे थे तब उस दौरान उन्हें दो फिल्मों से बाहर कर दिया गया। निर्देशक श्रीधर ने कहा था कि उनमें एक्टर बनने के गुण है। इसलिए एक्टर की बजाये पर्दे के पीछे रहकर काम करें। लेकिन उनके पिता चाहत थी कि उनके तीन बच्चों में कम से कम एक बच्चा एक्टर बने। अपनी इसी चाहत को पूरा करने के लिये उन्होंने कमल हासन को एक्टर बनाने का निश्चय किया।

यह पढ़ें...बुरा फंसी ये एक्ट्रेस! 4 साल के मासूम के चक्कर में दर्ज हो गई शिकायत

*कमल हासन की शुरूआत बतौर बाल कलाकार 1960 में प्रदर्शित फिल्म “कलाथुर कनम्मा” से की। ए. भीम सिंह के निर्देशन में बनी इस फिल्म में उन्होंने अपने दमदार एक्टिंग से न सिर्फ दर्शकों का दिल जीता बल्कि वह राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये। 70 के दशक में अपने पिता के जोर देने पर उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ दी और अपना ध्यान फिल्म इंडस्ट्री की ओर लगा दिया। इस बीच उन्होंने नृत्य की भी शिक्षा हासिल की और कुछ फिल्मों में सहायक नृत्य निर्देशक के रूप में भी काम किया।

*1973 में कमल हासन को दक्षिण भारत के जाने फिल्मकार के. बालचंद्र की फिल्म “अरंगेतरम” में काम करने का अवसर मिला। 1975 में प्रदर्शित फिल्म “अपूर्वा रंगानगल” लीड एक्टर के रूप में पहली हिट साबित हुयी। एक्शन फिल्मों से अलग कमल हासन ने रोमांटिक फिल्मों का दौर शुरू किया और चॉकलेटी हीरो बनकर उभरे। 1985 में कमल हासन को रमेश सिप्पी की फिल्म “सागर” में ऋषि कपूर और डिंपल कपाडिया के साथ काम किया।आर. डी. बर्मन के सुपरहिट संगीत और अच्छी पटकथा के बावजूद यह फिल्म हिट नहीं हुई। लेकिन कमल हासन के एक्टिंग को दर्शकों ने खूब सराहा।

यह पढ़ें...टेरेंस ने किया खुलासा: कंटेस्टेंट्स शो जीतने के लिए करते हैं ऐसा काम

*कमल हासन को स्टार बनाने में मशहूर डायरेक्टर बालचंद्र का बड़ा योगदान था। कहा जाता है कि साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत को हीरो बनाने वाले कमल हासन ही थे।जब रजनीकांत फिल्म इंडस्ट्री में स्ट्रगल कर रहे थे तो उन्हें कमल हासन के अपोजिट सेकंड लीड रोल मिला था।

*1998 में कमल हासन ने हिंदी फिल्मों में निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रखा और “चाची 420” में एक्टिंग के साथ डायरेक्शन भी किया। अब तक 200 फिल्मों में कमल हासन काम कर चुके है। हिंदी फिल्मों के अलावा उन्होंने तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ फिल्मों में भी काम किया। बहुमुखी प्रतिभा के धनी कमल हासन ने न केवल अभिनय की प्रतिभा से बल्कि सिंगिंग, प्रोडक्शन, राइटर व डायरेक्शन से भी सबको को अपना दीवाना बनाये है।

यह पढ़ें...हैप्पी बर्थडे अनुष्का शेट्टी, जानिए योगा इंस्ट्रक्टर से एक्ट्रेस बनने का सफर

*कमल हासन की जिंदगी में उनके अफेयर भी खूब रहेकमल ने वाणी से शादी की थी। वाणी फिल्मों में कमल हासन की कॉस्ट्यूम डिजाइन किया करती थीं। दोनों का रिलेशन 10 साल तक अच्छा चला। बाद में को-स्टार सारिका से प्यार हो गया। जब ये बात वाणी को पता चली तो उन्होंने कमल हासन को तलाक दे दिया। इसके बाद कमल हासन, सारिका के साथ रहने लगे। मीडिया में दोनों के लिव इन रिलेशनशिप की खूब खबरें आईं। कमल हासन ने 1988 में सारिका से तब शादी की थी जब वो बेटी श्रुति की मां बन गई थीं। शादी के बाद सारिका ने एक्टिंग छोड़ दी।

suman

suman

Next Story