सुपर मॉडल मिलिंद ने RSS पर किया ये खुलासा, जानिए ऐसा क्या कहा, होने लगी चर्चा

जाने-माने सुपर मॉडल और फिटनेस गुरु मिलिंद सोमन ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने अपनी किताब ‘मेड इन इंडिया’ में यह बातें लिखी है। मिलिंद ने इस किताब में अपनी जिंदगी से जुड़ी तमाम बातों पर लिखा है। अब आरएसएस को लेकर उनके विचार को लेकर बहस हो रही है।

मुंबई: जाने-माने सुपर मॉडल और फिटनेस गुरु मिलिंद सोमन ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने अपनी किताब ‘मेड इन इंडिया’ में यह बातें लिखी है। मिलिंद ने इस किताब में अपनी जिंदगी से जुड़ी तमाम बातों पर लिखा है। अब आरएसएस को लेकर उनके विचार को लेकर बहस हो रही है।

दरअसल मिलिंद सोमन ने अपनी किताब में लिखा है कि वह आरएसएस के शाखा में जाते थे। उन्होंने कहा कि उस दौर में जो एक चीज मेरे साथ हुई थी वह थी आरएसएस में मेरी जॉइनिंग। आरएसएस में जाने के बाद शाखा शुरू किया। यहां अनुशासन और जीने के तरीके, फिटनेस की बात की जाती थी और एक युवा की तौर पर यह बड़ा बदलाव था जो कि सकारात्मक रहा। ज्यादातर युवा उन दिनों इससे जुड़कर शिवाजी पार्क में यह करते थे, मैं भी इसका हिस्सा था।

यह भी पढ़ें…बम्पर भर्तियां: इंजीनियर से लेकर MBA के पदों पर निकली वैकेंसी, अभी करें अप्लाई

मिलिंद सोमन ने किताब में लिखा है कि वह इसका हिस्सा नहीं बनना चाहते थे। उन्होंने लिखा कि मैं बेहद नाराजा था कि पिता ने मुझ जैसे हंसमुख बच्चे को जानबूझकर इस तरह गतिविधियों में क्यों शामिल किया। सच कहूं तो मैं इसका हिस्सा नहीं होना चाहता था। हालांकि मेरे पिता को यह विश्वास था कि शाखा से मेरे जीवन में आत्मविश्वास, अनुशासिति जीवन और अच्छी सोच मिलेगी।

किताब में मिलिंद लिखते हैं कि अब मैं रोज शाम वॉक पर जा रहा था। मैंने अब तक जिंदगी में हमेशा ये किया। आज जब आरएसएस को कम्युनल या इस तरह की भाषा का प्रयोग करते हैं तो मुझे अजीब लगता है। सच कहूं तो मैं परेशान हो जाता हूं।

यह भी पढ़ें…मुकेश अंबानी नहीं रहे सबसे अमीर, इस शख्स ने छीन लिया टाइटल

आरएसएस के बारे में बताते हुए मिलिंद ने कहा है कि इसगसंगठन को लेकर मेरी यादें अलग हैं। उस समय हम हॉफ पैंट में मार्च करते थे। कुछ लोग योग करते थे तो कुछ आउटडोर जिम में वर्कआउट। हम गाने गाते थे और संस्कृत मंत्रों का पाठ करते थे। हम अपने दोस्तों के साथ कुछ देर खेलते थे और इसमें मजा आता था।

यह भी पढ़ें…सिंधिया लेंगे मोदी के करीबी की जगह, कांग्रेस ने दी BJP में शामिल होने की शुभकामना

मिलिंद सोमन ने इस किताब में यह भी खुलासा किया है कि उनके पिता खुद आरएसएस का हिस्सा रहे हैं। मिलिंद ने कहा कि मुझे पिता को हिंदू होने पर गर्व था। मुझे कभी यह समझ नहीं आया कि इसमें गर्व जैसा क्या है? पर, मैंने कभी ऐसा भी नहीं महसूस किया कि इसके बारे में कोई शिकायत करने के लिए भी कुछ ज्यादा नहीं है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।