लाॅकडाउन में इस फिल्म का पोस्टर रिलीज़, महिला सशक्तिकरण पर आधारित है फिल्म

विश्व भर में फैले कोरोना वायरस के कारण देश में चल रहे लॉकडाउन में एक ओर जहां बड़े-बड़े फिल्मकार अपनी फिल्म के रिलीज़ को लेकर चिंतित हैं।

Published by Ashiki Patel Published: May 15, 2020 | 9:09 pm
Modified: May 15, 2020 | 10:20 pm

गोंडा: विश्व भर में फैले कोरोना वायरस के कारण देश में चल रहे लॉकडाउन में एक ओर जहां बड़े-बड़े फिल्मकार अपनी फिल्म के रिलीज़ को लेकर चिंतित हैं। इस समय न केवल फिल्मों की शूटिंग रूकी हुई है, बल्कि कईयों फिल्म के रिलीज होने में भी व्यवधान उत्पन्न हुआ है। इसलिए बॉलीवुड निर्देशक सुज़ाद इक़बाल खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपील का सम्मान करते हुए और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए अपनी मां से ही अपनी आगामी फिल्म ‘एक बटटे दो‘ का पोस्टर रिलीज़ कराया। फ़िल्म ‘एक बटटे दो‘ बहुत जल्द एक ओटीटी (आनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म्स) पर रिलीज़ होगी।

ये भी पढ़ें: UP के पटरी व्यवसाइयों के लिए खुशखबरी: सीएम योगी का बड़ा एलान, मिलेगी ये राहत

फिल्म निर्देशक की मां ने किया पोस्टर रिलीज

लॉकडाउन की वजह से सुज़ाद इक़बाल खान इन दिनों फिल्म के राइटर सागर नाथ झा के साथ जम्मू कश्मीर के कठुआ ज़िले के बनी तहसील में अपने घर में हैं। ऐसे में अपने कुछ चनिंदा फैंस के मौजूदगी में घर से ही फिल्म के निर्देशक सुज़ाद इक़बाल खान की माता श्रीमती सुरैया बानो के हाथों फिल्म का पोस्टर रिलीज़ किया गया। बालीवुड के प्रसिद्ध डायरेक्टर सुज़ाद इक़बाल खान के निर्देशन में बनी फ़िल्म ‘एक बटटे दो‘ महिला सशक्तिकरण पर आधारित है। फिल्म के लेखक सागर नाथ झा ने बताया कि बालीवुड फिल्म इतिहास में शायद ऐसा पहली बार हुआ जब किसी फिल्म का पोस्टर रिलीज़ इस अंदाज़ में किया गया।

ये भी पढ़ें: UP के पटरी व्यवसाइयों के लिए खुशखबरी: सीएम योगी का बड़ा एलान, मिलेगी ये राहत

गुड़िया के जीवन पर आधारित है फिल्म

फिल्म के मुख्य कलाकार और गोंडा के राजेन्द्र नगर मोहल्ले के निवासी अम्बरीश सक्सेना बताते हैं कि ये फिल्म बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के थीम पर बनी है। पूरी फिल्म एक आदिवासी निराश्रित बच्ची गुड़िया के जीवन पर आधारित है, जिसके माता पिता को नकसलियों द्वारा मौत के घाट उतार दिया गया। फिल्म के मुख्य पात्र तेजू मुंडा की भूमिका में वे स्वयं हैं और उनकी पत्नी का रोल अभिनेत्री मोनिका चौधरी ने किया है। जबकि गुड़िया का रोल एक्ट्रेस नेहा सोलंकी ने किया है।

ये भी पढ़ें: सड़क हादसों में मजदूरों की मौत, भाकपा ने सरकार से की ये मांग

गांव में रचे बसे तेजू मुंडा दंपती ने अभाव में तमाम कष्ट सहते हुए गुड़िया को पाल पोस कर बड़ा किया और उच्च शिक्षा के लिए विदेश भेजना चाहते हैं लेकिन गुड़िया ने वहां जाना स्वीकार नहीं किया। गुड़िया अपने क्षेत्र और देश में पढ़ाई करके अफसर बनती है और तमाम बेटियों के जीवन को संवारने में लग जाती है। गुड़िया के जीवन पर आधारित इस फिल्म की कहानी लेखक सागर नाथ झा, अविनाश सिंह चीव ने लिखी है, वहीं फिल्म के डायलाग याहिया खान ने लिखे हैं। इस फिल्म को सुज़ाद इक़बाल खान ने डायरेक्ट किया है।

बच्चों, महिलाओं के शिक्षा पर होगा खर्च

फ़िल्म ‘एक बटटे दो‘ के मुख्य कलाकार अम्बरीश कुमार सक्सेना ने बताया कि फ़िल्म की कहानी जनजाति समाज के एक परिवार पर आधारित है। आविासी समाज की पीड़ा को देखते हुए फ़िल्म के निर्माता और निर्देशक सुज़ाद इक़बाल खान ने तय किया है कि इस फ़िल्म से होने वाले मुनाफे का कुछ हिस्सा रांची के हुन्द्रू गांव के बच्चों और महिलाओं के शिक्षा पर खर्च किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह फिल्म सभी वर्ग के दर्शकों को एक खास सन्देश देगा। फ़िल्म की शूटिंग रांची और रांची से 50 किलोमीटर दूर जोन्हा फाल, जोन्हा गांव और हुन्द्रू गांव में किया गया।

बेस्ट फीचर फिल्म अवार्ड जीता

फिल्म ‘एक बटटे दो‘ झारखण्ड इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवार्ड्स में बेस्ट फीचर फिल्म अवार्ड जीत चुकी है। दूर दर्शन पर भी यह फिल्म दिखाई जाएगी। फ़िल्म के मुख्य कलाकार अम्बरीश कुमार सक्सेना, मोनिका चौधरी, नेहा सोलंकी, अविनाश कुमार, पंकज गुप्ता, चंद्र शेखर दत्ता, पूजा झा, गोविंद पाठक, कल्पना झा, पंकज सिंह, मंगेश झा, रितेश वायस और रिजु मुंडा हैं। फिल्म का निर्माण एसआइके फिल्म्स एवं ओरिजनेट फिल्म्स प्रोडक्शन के बैनर तले हुआ है। सह निर्माता सोना प्रोडक्शन हाउस एवं ग्रीनलिफ़ मोशन पिक्चर्स है। फिल्म में लिरिक्स टीम एसआइके और अमित पाठक ने दिया हैं। वहीं वरुण बिदये फिल्म के म्यूजिक डायरेक्टर हैं।

रिपोर्ट: तेज प्रताप सिंह

ये भी पढ़ें: ट्रक वाले ने गर्भवती महिला के साथ किया ऐसा काम, उसे सुन कांप जाएगी रूह

वित्त मंत्री का ऐलान- सप्लाई चेन को ठीक करने के लिए 500 करोड़ रुपये की मदद देगी सरकार