Top

बड़े काम की चीज है मूली, ऐसे करें सेवन, इन बीमारियों से मिलेगा छुटकारा

सर्दियों के मौसम में सबसे ज्यादा लोग मूली के पराठे खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपको बता दें, कि जितनी ज्यादा ख़ुशी आपको मूली खाने के बाद मिलती है, उससे ज्यादा आपके पेट के आंतों में रहनेवाले गुड बैक्टीरिया को मिलती है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 17 Nov 2020 1:28 PM GMT

बड़े काम की चीज है मूली, ऐसे करें सेवन, इन बीमारियों से मिलेगा छुटकारा
X
मूली है बड़े काम की चीज़, इसका सेवन रखें इन बिमारियों से दूर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मूली सर्दियों में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली सब्जियों में से एक है। इस सब्जी को सलाद के रूप में भी खाया जाता है। सर्दियों के मौसम में सबसे ज्यादा लोग मूली के पराठे खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपको बता दें, कि जितनी ज्यादा ख़ुशी आपको मूली खाने के बाद मिलती है उससे ज्यादा आपके पेट के आंतों में रहनेवाले गुड बैक्टीरिया को मिलती है। आइए जानते है कैसे..

सफाई करना ना भूलें

-भोजन खाने और पचाने की क्रिया के दौरान हमारे शरीर में कई तरह के टॉक्सिक एसिड यानी विषैले तत्व जमा हो जाते हैं। भोजन में कुछ तत्व ऐसे होते है जो हमारे खाने के साथ शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। जैसे प्रिजर्वेटिव्स, पाउडर से पकाए गए फलों के छिलके और रेशे या खाने में उपयोग होनेवाले कैमिकल युक्त रंग इत्यादि।

-वही कुछ विषैले पदार्थ भोजन को पचाने की प्रक्रिया के दौरान हमारे शरीर के अन्दर ही उत्पन्न होने लगते है. लेकिन गैस, डकार, मल और मूत्र के माध्यम से ज्यादातर टॉक्सिक एसिड्स बाहर निकल जाते हैं। लेकिन कुछ आंतों और लिवर में रह जाते हैं। मूली इस सभी विषैले पदार्थ का सफाया करने में मदद करती है।

-वही शरीर में जमा ये टॉक्सिक एसिड खत्म होते हैं तो आंतों में रहनेवाले गुड बैक्टीरिया को अपनी वृद्धि करने के लिए पर्याप्त अवसर मिलता है। जिसके कारण भोजन सही तरीके से पचाने में कार्य कर पाते हैं।

दूर होती है कब्ज की समस्या

अपने डिटॉक्सिफिकेशन के गुणों के कारण मूली शरीर के अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने का कार्य करती है। इसलिए जिन लोगों को कब्ज की समस्या है उन्हें मूली का सेवन करना चाहिए।

ये भी पढ़ें…गृह मंत्री अमित शाह का ‘गुपकार गैंग’ पर वार, सोनिया और राहुल से पूछे ये तीखे सवाल

किस समय मूली का सेवन ना करें

-भले ही मूली सर्दियों में सांसे ज्यादा खाए जाने वाली सब्जी है लेकिन अगर इसे सर्दी-जुकाम की स्थिति में खाई जाए तो यह उसकी समस्या को कई गुना बढ़ा सकती है।

-सिर दर्द, सर्दी-जुकाम, खांसी, सीने में भारीपन, छाती में कफ जमा होना और बुखार की स्थिति में कच्ची मूली का सेवन नहीं करना चाहिए।

-लेकिन इन स्थितियों में मूली की सब्जी और मूली के पत्तों की भाजी का सेवन कर सकते हैं। बस सलाद के रूप में मूली नहीं खानी है।

ये भी पढ़ें… कांग्रेस पर हमलावर हुए केंद्रीय मंत्री, अगस्‍ता वेस्‍टलैंड और FAM का बताया कनेक्शन

दर्द बढ़ा सकती है मूली

-मूली शरीर के कई तरह के शिकायतों को दूर करती हैं। लेकिन अगर इसका सेवन आप रात के वक़्त या सुबह खाली पेट करते है तो ये आपके शरीर के लिए नुक्सान देह हो सकता है। इससे आपके पेट में दर्द हो सकता है।

-मूली फाइबर युक्त होते हुए भी पाचन में भारी होती है। इसलिए इसे पचाने के दौरान शरीर में अधिक मात्रा में वायु की वृद्धि होती है। रात में मूली खाकर सोएंगे तो किसी भी समय तेज पेट दर्द, सिरदर्द इत्यादि के कारण आपकी नींद टूट सकती है।

-बेहतर होगा कि मूली के पत्तों की भुज्जी के अतिरिक्त मूली की सब्जी या पराठे का उपयोग भी रात के समय यानी डिनर में ना करें।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story