×

सांसदों के लिए शुरू की गई हेल्पलाइन, PM मोदी का नंबर मांग रहे लोग, देना है सुझाव

लोकसभा में बहस के दौरान सांसदों की मदद की लिए हाल ही में एक 24/7 हेल्पलाइन शुरू की गई थी, लेकिन इस हेल्पलाइन में सांसदों के कम आम लोगों के ज्यादा फोन आ रहे हैं। हेल्पलाइन में काम कर रहे लोगों का कहना है कि लोग ज्यादातर लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नंबर जानना चाहते हैं।

Ashiki
Published on: 1 Feb 2021 6:04 AM GMT
सांसदों के लिए शुरू की गई हेल्पलाइन, PM मोदी का नंबर मांग रहे लोग, देना है सुझाव
X
सांसदों के लिए शुरू की गई हेल्पलाइन, PM मोदी का नंबर मांग रहे लोग, देना है सुझाव
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: हाल ही में लोकसभा में बहस के दौरान सांसदों की मदद की लिए एक 24/7 हेल्पलाइन शुरू की गई थी, लेकिन हेल्पलाइन में सांसदों के कम आम लोगों के ज्यादा फोन आ रहे हैं। इस हेल्पलाइन में काम कर रहे लोगों का कहना है कि हेल्पलाइन पर फोन करने वाले लोगों में ज्यादातर को पीएम मोदी का नंबर जानना है, तो किसी को मिलना है। इतना ही नहीं किसी को पीएम मोदी को सुझाव भी देना है।

ये भी पढ़ें: बजट से पहले खुशखबरी: GST कलेक्शन में उछाल, बाजार में बढ़ी रौनक

ग्रामीण क्षेत्रों से ज्यादातर आ रहे कॉल

हेल्पलाइन में काम कर रहे लोगों ने ने बताया कि लोग उनसे बजट या लोकसभा में बहस से संबंधित मुद्दों के बारे में नहीं पूछ रहे हैं बल्कि वे प्रधानमंत्री का नंबर पूछ रहे हैं। हेल्पलाइन के अधिकारियों का कहना है कि लगातार कॉल आ रही हैं। उन्होंने बताया कि ज्यादातर फोन कॉल ग्रामीण क्षेत्रों से हैं। कुछ लोगों ने जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोन नंबर पूछने के लिए हेल्पलाइन पर कॉल किया, तो वहीं एक शख्स ने फोन कर प्रधानमंत्री के साथ अप्वाइनमेंट की इच्छा जताई। वहीं कई लोगों कोरोना वैक्सीन से भी जुड़ी जानकारी की इच्छा जताई।

इसलिए शुरू की गई थी हेल्पलाइन

आपको बता दें कि बीते दिनों लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की ओर से बजट सत्र की पूर्व संध्या पर ये हेल्पलाइन शुरू कराई गई थी। इस हेल्पलाइन से सांसदों को डिबेट के लिए नोट्स और सामग्री मिल सकेगी। राउंड द क्लॉक सर्विस का देश और विदेश में कहीं से भी लाभ उठाया जा सकता है।

सांसदों ने भी कॉल की

बताया गया कि इस हेल्पलाइन में कुछ सांसदों के भी कॉल आए हैं। एक अधिकारी ने कहा कि बजट सत्र में बहस अभी शुरू नहीं हुई है, लेकिन हमें पहले से ही 4-5 के सांसदों के कॉल आए हैं। कॉल में कुछ सांसदों ने नोट्स और सामग्री मांगी है।

ये भी पढ़ें: रेल बजट पर एलानः जानें सीतारमण देंगी कितनी राहत, ये हैं उम्मीदें

Ashiki

Ashiki

Next Story