×

वैक्सीन लगने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें अब तक कितने लोगों की गई जान

नागाराजू संडूर (43)जनरल अस्पताल में स्वास्थ्य कर्मी के पद पर तैनात था। सोमवार दोपहर में सीने में दर्द और सांस में दिक्कत आने पर उसे इसी अस्पताल में एडमिट किया गया था, इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई।

Aditya Mishra
Published on: 19 Jan 2021 5:00 AM GMT
वैक्सीन लगने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें अब तक कितने लोगों की गई जान
X
कोरोना टीकाकरण के बाद अब तक कुल 447 लोगों में प्रतिकूल प्रभाव देखने को मिला है। रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: कर्नाटक के बल्लारी जिले में कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की मौत हो गई। 43 साल के स्वास्थ्यकर्मी को शनिवार को दोपहर 1 बजे उसे वैक्सीन लगाई गई थी, जिसके बाद वह बिल्कुल ठीक था।

उसमें कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखे थे। सोमवार रात को उसकी डेथ हो गई। हालांकि, सरकार या राज्य के स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के सुधाकर का कहना है कि मौत की वजह वैक्सीन नहीं है।

बता दें कि देशभर में 16 जनवरी से कोरोना वायरस को हराने के लिए वैक्सीनेशन चल रहा है। वैक्सीन लगवाने के बाद कई जगहों से साइड इफेक्ट की खबरें भी आई है।

Coronavirus Vaccination वैक्सीन लगाने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें अब तक कितने लोगों की गई जान(फोटो:सोशल मीडिया)

सीरो सर्वे का चौंकाने वाला दावा, ऐसे लोगों में कोविड-19 से संक्रमित होने का खतरा कम

क्या है ये पूरा मामला

दरअसल नागाराजू संडूर जनरल (43)अस्पताल में स्वास्थ्य कर्मी के पद पर तैनात था। सोमवार दोपहर में सीने में दर्द और सांस में दिक्कत आने पर उसे इसी अस्पताल में एडमिट किया गया था, इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई।

लाश को पोस्टमार्टम के लिए विजयनगर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस भेजा गया है। विम्स की शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक, हेल्थ वर्कर शुगर और हाई ब्लड प्रेशर सहित कई अन्य बीमारियां भी थी।

क्या कहते हैं विम्स के निदेशक?

स्वास्थ्यकर्मी की मौत के मामले में संस्थान विम्स के डायरेक्टर डॉ. बी देवानंद का कहना है कि, 'पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की वजह साफ होगी।

शुरुआती रिपोर्ट में मौत वैक्सीन के कारण नहीं, बल्कि कार्डियोपल्मनरी फेल होने से हुई है। वैक्सीनेशन के बाद की प्रतिकूल परिस्थितियों से जुड़ी कमिटी के मुताबिक हेल्थ वर्कर की मौत की वजह हार्ट अटैक है। फिलहाल हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।'

फर्स्ट डे कितने लोगों ने कराया वैक्सीनेशन, कौन सा राज्य रहा सबसे आगे, यहां जानें

यूपी में भी हो चुकी है एक आदमी की मौत

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में भी एक आदमी की मौत हो चुकी है। मुरादाबाद के जिला अस्पताल के वार्ड ब्वॉय महिपाल को वैक्सीन लगाने के बाद उसने धडकनें बंद हो गई।

हालांकि, मुरादाबाद के सीएमओ डॉ. एमसी गर्ग ने बताया कि महिपाल की मौत का कोरोना वैक्सीनेशन से कोई लेना-देना नहीं है। उसकी मौत हार्ट अटैक से हुई थी। वहीं वार्ड ब्वॉय के परिजनों ने आरोप लगाया था कि वैक्सीन की वजह से ही उसके मरीज की मौत हुई है।

corona virus वैक्सीन लगाने के बाद एक और शख्स की मौत, जानें अब तक कितने लोगों की गई जान(फोटो:सोशल मीडिया)

अब तक 447 लोगों में दिखे वैक्सीन के साइड इफेक्ट

देश भर में कोरोना टीकाकरण के बाद अब तक कुल 447 लोगों में प्रतिकूल प्रभाव देखने को मिला है। रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी।

मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना वायरस टीकाकरण दिए जाने के बाद 16 और 17 जनवरी को 447 एइएफ़आई (एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्युनाइजेशन) रिपोर्ट किए गए हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव डॉक्टर मनोहर अगनानी ने बताया कि अधिकांश मामलों में इसका प्रतिकूल प्रभाव मामूली स्तर का था। अगर टीकाकरण के बाद किसी को अस्पताल में भर्ती करना पड़े तो उसे सीरियस एएफआई में दर्ज किया जाता है।

बढ़ गया कर्फ्यू: पुलिस के सख्त नियम लागू Rajasthan में, जाने कब तक रहेगा जारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story