×

सेना पर आफत! बर्फीले तूफान ने जवानों को घेरा, अब तक 5 शहीद-रेस्क्यू जारी

बता दें कि हाल ही में श्रीनगर- जम्‍मू हाइवे, मुगल रोड, श्रीनगर- लेह हाइवे और बार्डर पर अन्‍य गांवों को जोड़ने वाली सड़कें स्‍नोफॉल के चलते बंद कर दी गई हैं। इसके अलावा बंदीपोरा, बरामूला, अनंतनाग, कुलगाम, बडगाम, कुपवाड़ा, गांदरबल, लेह और कारगिल के लिए हिमस्‍खलन की चेतावनी भी जारी की गई है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 14 Jan 2020 5:41 AM GMT

सेना पर आफत! बर्फीले तूफान ने जवानों को घेरा, अब तक 5 शहीद-रेस्क्यू जारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर से बड़ी खबर सामने आ रही है यहां के माछिल और गांदरबल में भयानक बर्फीला तूफान देखने को मिला इस तूफान में सेना के 5 जवानों की अब तक मौत हो चुकी है, वहीं सेना के 4 जवानों को रेस्क्यू करके बचा लिया गया है। जानकारी के अनुसार यह बर्फीला तूफान आज सुबह देखने को मिला।

हालांकि अभी भी 2 सेना के जवानों के फंसे होने की आशंका है। यह बर्फीला तूफान माछिल और गांदरबल के आसपास देखने को आया, इसमें सेना के 5 जवानों की अब तक मौत हो चुकी है दो जगह आए इस बर्फीले तूफान से सेना के कई जवान चपेट में आ गए। लापता 2 जवानों को खोजने के लिए टीम लगाई गई है बर्फीले तूफान से 4 लोगों को बचा लिया गया है मौके पर सेना के अधिकारी भी जायजा लेने पहुंच सकते हैं।

ये भी पढ़ें—नहीं था इस शायर के पास खुद का मकान, कलमों को ठीक कराने भेजते थे न्यूयॉर्क

जारी की गई हिमस्‍खलन की चेतावनी

बता दें कि हाल ही में श्रीनगर- जम्‍मू हाइवे, मुगल रोड, श्रीनगर- लेह हाइवे और बार्डर पर अन्‍य गांवों को जोड़ने वाली सड़कें स्‍नोफॉल के चलते बंद कर दी गई हैं। इसके अलावा बंदीपोरा, बरामूला, अनंतनाग, कुलगाम, बडगाम, कुपवाड़ा, गांदरबल, लेह और कारगिल के लिए हिमस्‍खलन की चेतावनी भी जारी की गई है।

इसके अलावा 434 किलोमीटर श्रीनगर-लेह हाइवे को भी स्‍नोफॉल के बाद से बंद कर दिया गया है। वहीं बंदीपोरा- गुरेज, तंगधार-कुपवाड़ा, माछिल-कुपवाड़ा और केरन को भी भारी बर्फबारी के चलते बंद कर दिया गया है। यहां दिन का तापमान भी घटता जा रहा है। श्रीनगर में अधिकतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस, काजीगुंड में 5.8 रिकॉर्ड किया गया। वहीं पहलगाम में यह 5.3, कुपवाड़ा में 4.5, गुलमर्ग में 2.6, लेह में 3.9 और कारगिल में यह आंकड़ा माइनस में 1.5 पर पहुंच गया। बता दें कि इससे पहले भी यहां बर्फ से दबकर सेना के कई जवानों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें—निर्भया के दोषियों को मिला आखिरी मौका, SC करेगी फैसले पर पुनर्विचार

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story