खूंखार 300 आतंकी! भारत में तबाही को तैयार, बनाया ये खतरनाक प्लान

पाकिस्तान की इस साजिश को नाकाम बनाने के लिए सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर में आतंकियों के समर्थकों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। नियंत्रण रेखा व अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है। पाकिस्तान द्वारा की गई किसी भी नापाक गतिविधि का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार है।

जम्मू: अपने नापाक इरादों से भारतीय सेना पर हमले की फिराक में घात लगाकर बैठे पाकिस्तानी सेना ने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर आतंकियों ने करीब 50 लांचिंग पैड फिर से एक्टिव कर लिए हैं।

जानकारी के मुताबिक इन लांचिंग पैड पर करीब तीन सौ आतंकी मौजूद हैं इनमें करीब 50 आतंकी अफगानी मूल के हैं जो कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हैं। यह आतंकी 26 जनवरी के आसपास जम्मू-कश्मीर समेत देश के कई राज्यों में हमले को अंजाम दे सकते हैं।

ये भी पढ़ें—PM मोदी आज बंगाल में: CAA विरोध के बीच दो दिवसीय दौरे आज पहुंचेंगे कोलकाता

घुसपैठ की फिराक में हैं आतंकी

भारतीय खुफिया एजेंसियों ने पाकिस्तानी सेना की इस साजिश का पता लगाया है। इन लांचिंग पैड में से अधिकांश उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार पीओके की नीलम घाटी इलाके में हैं।

मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तानी सेना इन्हें भारतीय इलाके में घुसपैठ कराने के लिए उचित मौका तलाश रही है। इन आतंकियों को पाकिस्तानी सेना और उसकी खुफिया एजेंसी के अधिकारियों ने ट्रेनिंग दी है।

यहां अलर्ट जारी: कभी भी पाकिस्तान कर सकता है बड़ा हमला

यहां बने आतंकी लांचिंग पैड

बता दें कि हाल ही में एक्टिव हुए लांचिंग पैड में से अधिकांश नीलम, लीपा और टंगडार घाटी में हैं। इनमें से अधिकांश लांचिंग पैड बीते साल फरवरी में भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए बालाकोट हमले के बाद बंद हो गए थे।

ये भी पढ़ें—कानून बनने के बाद भी इन राज्यों में नहीं लागू होगा CAA, जानें क्या है वजह…

बड़े हमले की फिराक में जैश सरगना अजहर मसूद का भाई

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक जैश सरगना अजहर मसूद का भाई रऊफ असगर भारत में किसी बड़े हमले को अंजाम देने के फिराक में है। बीते कुछ दिनों के दौरान वह इन लांचिंग पैड पर जमा हुए आतंकियों से दो बार मिलने पहुंचा है।

हालांकि पाकिस्तान की इस साजिश को नाकाम बनाने के लिए सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर में आतंकियों के समर्थकों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। नियंत्रण रेखा व अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है। पाकिस्तान द्वारा की गई किसी भी नापाक गतिविधि का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देने को तैयार है।