×

J&K BDC Election: कश्मीर में ऐतिहासिक मतदान, 99% हुई वोटिंग

जम्मू कश्मीर के 310 ब्लॉकों में ब्लॉक विकास परिषदों के अध्यक्षों के चुनाव के लिए गुरुवार को मतदान हुआ। बता दें कि आज सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक मतदान हुआ। इसके साथ ही मतों की गिनती भी आज दोपहर तीन बजे से शुरू हो गई। ध्यान देने वाली बात है कि चुनाव की यह प्रक्रिया पंचायती राज व्यवस्था का दूसरा स्तर है जो पांच नवंबर तक संपन्न होगी।

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 24 Oct 2019 4:20 PM GMT

J&K BDC Election: कश्मीर में ऐतिहासिक मतदान, 99% हुई वोटिंग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जम्मू कश्मीर: जम्मू कश्मीर के 310 ब्लॉकों में ब्लॉक विकास परिषदों के अध्यक्षों के चुनाव के लिए गुरुवार को मतदान हुआ। बता दें कि आज सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक मतदान हुआ। इसके साथ ही मतों की गिनती भी आज दोपहर तीन बजे से शुरू हो गई। ध्यान देने वाली बात है कि चुनाव की यह प्रक्रिया पंचायती राज व्यवस्था का दूसरा स्तर है जो पांच नवंबर तक संपन्न होगी।

दरअसल, यह चुनाव दलगत आधार पर होंगे, और 26,629 पंच और सरपंच मतदान करने और बीडीसी अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के योग्य हैं। गौरतलब है कि इस चुनाव में करीब एक हजार प्रत्याशी हैं। ध्यान देने योग्य बात है कि नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी और कांग्रेस ने इसका बहिष्कार किया है।

यह भी पढ़ें. 250 ग्राम का परमाणु बम! पाकिस्तान का ये दावा, सच्चा या झूठा

1065 प्रत्याशी चुनाव मैदान में अजमा रहे किस्मत...

राज्य के 22 जिलों में हो रहे बीडीसी चुनाव में 1,065 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। 27 उम्मीदवारों को निर्विरोध बीडीओ अध्यक्ष चुन लिया गया है, अधिकारियों ने बताया कि राज्य में 316 ब्लॉक हैं लेकिन चुनाव 310 ब्लॉक में हो रहा है, क्योंकि दो ब्लॉकों में निर्वाचित पंच और सरंपच नहीं है, चार ब्लॉक महिलाओं के लिए सुरक्षित हैं।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम...

जम्मू जिला निर्वाचन अधिकारी सुषमा चौहान ने बताया कि जम्मू में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की कोई सूचना नहीं है, अधिकारियों ने बताया कि मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं, इसके अलावा, बीडीसी चुनाव में मतदान करने वाले पंचों और सरपंचों की सुरक्षा के भी इंतजाम किए गए हैं।

99 और 60 प्रतिशत हुआ मतदान...

यह भी पढ़ें. एटम बम मतलब “परमाणु बम”, तो ऐसे दुनिया हो जायेगी खाक!

गौरतलब है कि कड़ी सुरक्षा के बीच जम्मू संभाग में 99 प्रतिशत, कश्मीर में 60 प्रतिशत से अधिक हुआ मतदान है। केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) बनने जा रहे जम्मू कश्मीर और लद्दाख में पहली बार हुए ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल (बीडीसी) मतदान अब संपन्न हो गए हैं। प्रशासन ने दावा किया है कि सुबह नौ बजे से दोपहर एक तक जम्मू, कश्मीर व लद्दाख में चली मतदान प्रक्रिया किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं घटी है। सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के बीच बड़ी संख्या में पंच-सरपंचों ने ब्लाक चेयरमैन चुनने के लिए मतदान केंद्रों में पहुंच अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

श्रीनगर के आतंकवादग्रस्त जिला शोपियां में मतदान 82 प्रतिशत रहा। बता दें कि यहां दो मतदान केंद्र बनाए गए थे और यहां चेयरमैन पद के लिए चार उम्मीदवार मैदान में थे। इन दोनों केंद्रों से मतदाताओं की कुल संख्या 34 थी। आतंकवादियों की धमकियों को नजरअंदाज करते हुए अधिकांश पंच-सरपंच मतदान करने के लिए केंद्र में पहुंचे।

इसके साथ ही कुलगाम जिले में भी शांतिपूर्वक मतदान हुआ। चुनाव के दौरान कहीं से किसी बड़ी अनहोनी की सूचना नहीं मिली है। शोपियां के डीसी चौधरी मोहम्मद यासीन ने बताया कि शोपियां में बनाए गए दोनों मतदान केंद्रों में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ। जिले से चार उम्मीदवार मैदान में हैं।

यह भी पढ़ें: अफवाह या हकीकत, भारत का चंद्रयान उठायेगा इस झूठ से पर्दा

राजौरी में 99.48% मतदान...

वहीं जिला राजौरी में मतदान प्रतिशत 99.48 दर्ज किया गया। यहां 76 उम्मीदवार चेयरमैन का पद पाने के लिए मैदान में उतरे हैं। यहां मतदाता पंच-सरपंचों की संख्या में 2687 है, जिनमें से 2673 मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें 1810 पुरुष मतदाता जबकि 863 महिला मतदाता शामिल हैं।

डोडा में 99.58% मतदान...

इसी तरह जिला डोडा की बात करें तो वहां भी मतदान प्रतिशत 99.58 दर्ज किया गया। यहां 17 ब्लाक में 74 उम्मीदवार चेयरमैन पद के लिए चुनावी मैदान में उतरे हैं। इनमें 28 महिलाएं जबकि 46 पुरुष उम्मीदवार शामिल हैं। सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक चली मतदान प्रक्रिया में 1900 पंच-सरपंच उम्मीदवारों में से 1884 ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इनमें 584 महिला मतदाता और 1300 पुरुष मतदाता शामिल हैं।

उधमपुर में 99.37 % मतदान...

यह भी पढ़ें: 10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

इसी तरह उधमपुर में 99.37 प्रतिशत, सांबा में 99.55 प्रतिशत, रियासी में 99.70 प्रतिशत, कठुआ में 99.38 प्रतिशत, किश्तवाड़ में 99.48 प्रतिशत, डोडा में 99.58 प्रतिशत, राजौरी में 99.4 प्रतिशत और जम्मू में 99.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। कठुआ में कई जगह 12 बजे तक मतदान प्रक्रिया हो गई थी संपन्न

चुनाव में 283 ब्लॉकों के चुने जायेंगे चेयरपर्सन...

राज्य में पहली बार हो रहे इस चुनाव में 283 ब्लॉकों के चेयरपर्सन चुने जाने हैं। हालांकि 27 निर्विरोध चुने जा चुके हैं। कुल मिलाकर काउंसिल में 310 प्रतिनिधि होंगे। जम्मू कश्मीर पंचायत राज अधिनियम 1989 के तहत हो रहे बीडीसी चुनाव में वैसे तो 1092 उम्मीदवार मैदान में थे, परंतु उनमें से 27 पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं। आज 1065 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा।

जिन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज होना है, उनमें जम्मू संभाग के डोडा में 74, किश्तवाड़ में 44, रामबन में 39, ऊधमपुर में 58, कठुआ में 72, सांबा में 36, जम्मू में 82, राजौरी में 76 और पुंछ में 61 उम्मीदवार शामिल हैं। कश्मीर में भाग्य आजमाने वालों में से कुपवाड़ा में 101, बारामुला में 90, बांडीपोर में 26, गांदरबल में 28, श्रीनगर में 5 ,बडगाम में 58, पुलवामा में 11, शोपियां में 4, कुलगाम में 18 और अनंतनाग में 55 उम्मीदवार शामिल हैं। लद्दाख संभाग के लेह में 36 व करगिल जिले में 38 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

जम्मू संभाग में सुबह से ही मतदान करने को लेकर काफी गहमागहमी देखने को मिल रही है। मतदान की यह प्रक्रिया दोपहर एक बजे तक चलेगी। 283 ब्लॉकों में होने वाले मतदान में 26629 पंच- सरपंच वोट डालेंगे। ये मतदाता 1065 पंच-सरपंचों के भाग्य का फैसला करेंगे।

यह भी पढ़ें: 10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

ऐसे शुरू हुई मतदान प्रक्रिया...

मतदान प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही ब्लॉकों में मतदान के लिए पोलिंग स्टाफ पहुंच गया था। सुबह नौ बजे मतदान की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। जम्मू संभाग के ग्रामीण इलाकों में बनाए गए मतदान केंद्रों में पहले आधा घंटे में तो पंच-सरपंचों की संख्या कम रही परंतु उसके बाद मतदान के लिए कतारें देखने को मिली। हर ब्लॉक में एक मतदान केंद्र बनाया है। ब्लॉक डेवलपमेंट कार्यालयों में बनाए मतदान केंद्रों में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए हैं। मतदान में बैलेट बाक्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में वोट डालने वालों में 8313 महिलाएं और 18316 पुरुष मतदाता हैं।

आपको बता दें कि नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी और कांग्रेस ने पहले ही बीडीसी चुनाव के बहिष्कार की घोषणा कर रखी है। ऐसे में यह चुनावी मुकाबला अब भाजपा, पैंथर्स पार्टी और आजाद उम्मीदवारों के बीच रह गया है। चुनाव में निर्दलीय हावी हैं। 853 निर्दलीय उम्मीदवार हैं, जो 80 फीसद हैं। वहीं, 239 विभिन्न राजनीतिक दलों से संबंध रखते हैं। चुनाव में सिर्फ भाजपा व पैंथर्स पार्टी ने उम्मीदवार उतारे हैं। 1065 उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में हैं।

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story