×

सुखोई और मिराज अभिनंदन के साथ थे, लेकिन उन्हें उम्मीद नहीं की कुछ ऐसा होगा

विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 से पाकिस्तान के F-16 फाइटर जेट को मार गिराया था। अब उनकी घर वापसी भी हो चुकी है। देश में जश्न का माहौल है। युवा उनके जैसी मुछों के दीवाने हो चुके हैं। नवजातों के नाम अभिनंदन रखे जा रहे हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 March 2019 4:45 AM GMT

सुखोई और मिराज अभिनंदन के साथ थे, लेकिन उन्हें उम्मीद नहीं की कुछ ऐसा होगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 से पाकिस्तान के F-16 फाइटर जेट को मार गिराया था। अब उनकी घर वापसी भी हो चुकी है। देश में जश्न का माहौल है। युवा उनके जैसी मुछों के दीवाने हो चुके हैं। नवजातों के नाम अभिनंदन रखे जा रहे हैं। लेकिन इसी के बीच एक बड़ा सवाल भी अनुत्तरित खड़ा है कि अभिनंदन के विमान के पीछे जो प्लेन थे, उन्होंने एफ-16 पर हमला क्यों नहीं किया।

हमें मिली जानकारी के मुताबिक अभिनंदन के प्लेन के पीछे एक सुखोई30 एमकेआई और मिराज 2000 भी थे। लेकिन उन्होंने पाकिस्तान के प्लेन पर हमला नहीं किया जबकि वो लॉन्ग रेंज मिसाइल से लैस थे।

ये भी देखें :Welcome Home Abhinandan: विंग कमांडर की वतन वापसी पर यूपी में जश्न

जानकारों के मुताबिक, ऐसा इसलिए भी हो सकता है कि पीछे वाले प्लेन के पायलट ये उम्मीद ही ना कर रहे हों कि अभिनंदन दुश्मन की सीमा में घुस उसका प्लेन ढेर करने का मन बना चुके हैं।

डीब्रीफिंग में क्या बोले अभिनंदन

हमारे सूत्रों के मुताबिक अभिनंदन ने डीब्रीफिंग में कहा, वो पाकिस्तान के फाइटर प्लेन से भिड़ गए थे। उन्होंने ग्राउंड कंट्रोलर को इसकी जानकारी दी थी। इसके बाद उन्होंने R73 मिसाइल से हमला किया।

ये भी देखें :विंग कमांडर अभिनंदन को रिहाई के समय वाघा लाने का ये था सबसे बड़ा कारण

इस भिडंत में एफ-16 ने उनके प्लेन पर चार AIM120 AMRAAM मिसाइलों से हमला किया। लेकिन अभिनंदन ने न सिर्फ अपने को बचाया बल्कि एक एफ-16 को मार गिराया। इसके बाद उनका मिग-21 एक मिसाइल की जद में आ गया और उन्हें इजेक्ट करना पड़ा। उन्हें ऐसी उम्मीद नहीं थी कि वो दुश्मन की जमीन पर हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story