Top

कोरोना वायरस से मौत होने पर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है। रोज बड़ी संख्या में कोरोना के नये केस मिल रहे हैं। उतनी ही बड़ी संख्या में लोग दम भी तोड़ रहे हैं। कोरोना ने कई परिवारों की खुशियां छीन ली हैं। घर में इकलौते कमाने वाले लोगों को भी इस बीमारी ने कहीं का नहीं छोड़ा।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 8 Jun 2020 7:36 AM GMT

कोरोना वायरस से मौत होने पर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से पूरी दुनिया जंग लड़ रही है। रोज बड़ी संख्या में कोरोना के नये केस मिल रहे हैं। उतनी ही बड़ी संख्या में लोग दम भी तोड़ रहे हैं। कोरोना ने कई परिवारों की खुशियां छीन ली हैं। घर में इकलौते कमाने वाले लोगों को भी इस बीमारी ने कहीं का नहीं छोड़ा।

संकट के इस समय में जब कम्पनियां अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही हैं। ऐसे में एअर इंडिया ने अपने कर्मचारियों के परिवार की मदद का बेड़ा उठाया है।

एअर इंडिया का जमीनी काम संभालने वाली (ग्राउंड हैंडलिंग) अनुषंगी कंपनी एअर इंडिया एयरपोर्ट सर्विस लिमिटेड (एआईएएसएल)कोरोना वायरस संक्रमण के चलते किसी कर्मचारी की मौत पर उसके परिवार के सदस्य को नौकरी देगी। कंपनी ने एक नोटिस जारी कर यह जानकारी दी।

भारत ने दिया WHO को करारा झटका, कोरोना वायरस पर उठाया ये कड़ा कदम

प्राप्त जानकारी के अनुसार कंपनी के महाप्रबंधक (कार्मिक) ने छह जून को यह आदेश जारी किया। इसी दिन एअर इंडिया के 58 वर्षीय एक पायलट की कोरोना वायरस की चपेट में आने से मौत हो गई। यह पायलट अप्रैल में ही रिटायर हुआ था।

यहां ये भी बता दें कि नोटिस के अनुसार कोरोना वायरस जैसे विश्व व्यापी संकट के मद्देनजर एआईएएसएल ने निर्णय किया है कि कंपनी, एअर इंडिया या उसकी किसी और अनुषंगी के किसी कर्मचारी की यदि कोरोना वायरस से डेथ हो जाती है तो मानवीय आधार पर कंपनी उसके परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी देगी। यह निर्णय एअर इंडिया एक्सप्रेस, एलायंस एयर और एअर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेस लिमिटेड पर भी प्रभावी होगा।

भारत ने दिया WHO को करारा झटका, कोरोना वायरस पर उठाया ये कड़ा कदम

तीन जून को दो लाख सात हजार 615 थे कुल मामले

गौरतलब है कि तीन जून को देश में कोरोना के कुल केस दो लाख सात हजार 615 थे। चार जून को ये आंकड़ा बढ़कर दो लाख सोलह हजार (2.16 लाख) के करीब पहुंच गया। पांच जून को संक्रमितों की संख्या करीब दो लाख 26 हजार (2.26 लाख) हो गए, जो छह जून को बढ़कर दो लाख 36 हजार पहुंच गया।

सात जून को ये 2 लाख 46 हजार पर आ गया और आज आठ जून को संक्रमित मरीजों की संख्या 2.56 लाख के पार यानी दो लाख 56 हजार 611 हो गई है। यानी अब हर रोज करीब दस हजार नए मामले सामने आ रहे हैं।

30 जनवरी से सात मई तक कोरोना के पचास हजार मामलों की पुष्टि

देश में कोरोना का पहला मामला 30 जनवरी को दर्ज किया गया था। तब से लेकर सात मई तक कोरोना संक्रमितों की संख्या ने पचास हजार का आंकड़ा पार किया था। यानि करीब 96 दिनों में कोरोना के 50 हजार मामले आए थे। वहीं 19 मई को देश में कोरोना मरीजों की संख्या ने एक लाख का आंकड़ा पार किया था। 27 मई को डेढ़ लाख और तीन जून को दो लाख के पार मरीजों की संख्या पहुंची।

यह भी पढ़ें: कोरोना का खौफ: एक ही शव का दो बार करना पड़ा अंतिम संस्कार, जानें पूरा मामला

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story