क्या 5 अप्रैल को बंद रहेंगी देश की सभी स्ट्रीट लाइटें, बिजली मंत्रालय ने दिया ये बयान

ऐसी आशंकाएं हैं कि बिजली की ग्रिड ही फेल हो जाएगी। अब ऐसी अफवाहों पर रोक लगाते हुए बिजली मंत्रालय की तरफ से बयान जारी किया गया है।

नई दिल्ली:  बीते शुक्रवार पीएम मोदी ने वीडियो संदेश के जरिये देश की जनता से 5 अप्रैल को रात के 9 बजे 9 मिनट के लिए अपने-अपने घरों की लाइटें बुझा कर दिया और मोमबत्तियां जलाने की अपील की थी। जिसके बाद ऐसी अफवाहें फैलीं थी कि उस समय बिजली की ग्रिड ही फेल हो जाएगी। अब ऐसी अफवाहों पर रोक लगाते हुए बिजली मंत्रालय की तरफ से बयान जारी किया गया है। जिसमें ऐसी बातों को महज अफवाह बताया गया है।

ग्रिड फेल होना महज अफवाह

ये भी पढ़ें-  इस दिन सभी होंगे तैयार: कोरोना से लड़ने में सक्षम होगा देश, सरकार पूरी तरह से सजग

प्रधानमंत्री मोदी की नौ मिनट घर की लाइटें बंद करने की अपील और बिजली की ग्रिड फेल होने की अफवाह के बीच बिजली मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने पांच अप्रैल को रात 9:00 बजे से 9:09 बजे के बीच स्वेच्छा से लाइटें बंद करने की अपील की है। कुछ आशंकाएं व्यक्त की गई हैं कि इससे ग्रिड और वोल्टेज में उतार-चढ़ाव हो सकता है जो बिजली के उपकरणों को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसी आशंकाएं गलत हैं।

नहीं बंद होंगी स्ट्रीट लाइटें

ये भी पढ़ें- अब सरकार ने उठाया बड़ा कदम, ऐसे होगी कोरोना की जांच और इलाज

बिजली मंत्रालयन की ओर से कहा गया कि सिर्फ घरों की लाइटें बंद करने के लिए पीएम की ओर से अपील की गई है। स्ट्रीट लाइट्स या घरेलू उपकरणों को बंद करने का कोई आदेश या बाध्यता नहीं है। ये सारी लाइट्स जस की तस ही जलती रहेंगी। बिजली मंत्रालय की ओर से कहा गया कि अस्पतालों और अन्य आवश्यक जगहों पर भी लाइटें पहले की तरह ही जलती रहेंगी। स्थानीय निकायों को सार्वजनिक सुरक्षा के लिए स्ट्रीट लाइटें चालू रखने की सलाह दी गई है।

पीएम ने की ये अपील

ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में देश की एकजुटता के महत्व को रेखांकित करते हुए रविवार पांच अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की है।

ये भी पढ़ें- आलमबाग में एक दुकान में लगी आग को बुझाते हुए फायर ब्रिगेड के कर्मचारी, देखें तस्वीरें

वहीं देश में कोरोना का कहर लगातार जारी है। भारत में अब तक कोरोना वायरस महामारी से 68 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, इस वायरस से देशभर में 2900 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। ऐसे में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार की तरफ से देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। जनता कर्फ्यू के बाद यह प्रधानमंत्री की देश के लोगों से इस तरह की दूसरी अपील है।\

ये भी पढ़ें-  ये देशी स्टाइल बचाएगा कोरोना से, योगी सरकार ने सभी से की अपील