केरल के छात्र का कमाल : साइकिल को बना डाला बाइक, पढ़ें पूरी खबर

केरल के कोच्चि में नौवीं के मेधावी छात्र अरशद ने लॉकडाउन के दौरान अपनी साइकिल को बाइक में बदल दिया। अपने दादा के दोपहिया वाहन के इंजन का उपयोग कर अरशद ने बाइक बनाई है। ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने का सपना देखते हुए अरशद का दावा है

Published by suman Published: June 14, 2020 | 8:44 pm

कोच्चि  : केरल के कोच्चि में नौवीं के मेधावी छात्र अरशद ने लॉकडाउन के दौरान अपनी साइकिल को बाइक में बदल दिया। अपने दादा के दोपहिया वाहन के इंजन का उपयोग कर अरशद ने बाइक बनाई है। ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने का सपना देखते हुए अरशद का दावा है की उसकी बाइक 50 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देगी।  छात्र ने स्क्रैप सामग्री का उपयोग करके साइकिल को एक हल्की बाइक बना डाला। इतनी छोटी उम्र में छात्र की इस कामयाबी की हर कोई तारीफ कर रहा है।

 

यह पढ़ें…‘छिछोरे’ में बेटे को दिया जीने का हौसला मगर असल जिंदगी में खुद वही काम कर बैठे सुशांत

अरशद को बाइक को बनाने में डेढ़ महीने का समय लगा। उसने अपने पिता के ऑटोमोबाइल वर्कशॉप में इस बाइक को तैयार किया है। उसकी बाइक 50 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देगी। उसने कहा कि वो अगली बार ट्रॉली बनाना चाहता है।

इसी तरह एक खबर है कि अरशद से पहले तमिलनाडु के वेल्लोर जिले के एक गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्र ने एक ऐसी किट तैयार की थी, जिसकी मदद से दोपहिया वाहन को हाइड्रोजन से चलाया जा सकता है। इस छात्र ने अपने पिता की बाइक को इस किट की मदद से चलाने में कामयाबी हासिल की थी।  बच्चे का नाम डी देवेंद्रिरन है, जो 11वीं में पढ़ता है। उसने हाइड्रोजन आधारित डिवाइस बनाई थी, जिससे बाइक को चलाया जा सकता है।

यह पढ़ें…सिर चढ़कर बोला नशा: भाइयों में हुआ विवाद, शादी का कार्ड देने आये रिश्तेदार की मौत

बता दें कि छात्र देवेंद्रिरन ने इस किट को बनाने से पहले वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में आयोजित राज्य स्तरीय विज्ञान महोत्सव में अपना प्रोजेक्ट प्रदर्शित किया था। छात्रों का इस तरह का प्रदर्शन आने वाले समय में भारत के लिए सुखद संदेश देना वाला है।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।