×

सचिन वाजे का राज डायरी में, खुलेगी वसूली कांड की सच्चाई, NIA ने की जब्त

ये डायरी वसूली रैकेट को लेकर बेहद अहम मानी जा रही है। इस डायरी में पैसे के लेन-देन की बात कोड वर्ड में लिखी हुई है। एजेंसी को शक है कि कोड वर्ड में जो नाम और रकम लिखी है, वो रेस्तरां, पब और कुछ कारोबारियों से वसूले गए थे।

Shreya
Updated on: 23 March 2021 8:20 AM GMT
सचिन वाजे का राज डायरी में, खुलेगी वसूली कांड की सच्चाई, NIA ने की जब्त
X
सचिन वाजे का राज डायरी में, खुलेगी वसूली कांड की सच्चाई, NIA ने की जब्त
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंबई: देश के सबसे बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों से भरी कार खड़ी करने के मामले में गिरफ्तार किए गए सचिन वाजे के राज जल्द ही सबके सामने आने वाले हैं। दरअसल, एंटीलिया केस की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को तलाशी के दौरान CIU आफिस में एक डायरी मिली है, जिसके बाद ऐसा माना जा रहा है कि कई राज खुलकर सामने आएंगे।

वसूली रैकेट में बेहद अहम

ये डायरी वसूली रैकेट को लेकर बेहद अहम मानी जा रही है। इस डायरी में पैसे के लेन-देन की बात कोड वर्ड में लिखी हुई है। एजेंसी को शक है कि कोड वर्ड में जो नाम और रकम लिखी है, वो रेस्तरां, पब और कुछ कारोबारियों से वसूले गए थे। इसमें जो भी जानकारियां लिखी गई हैं, वो जनवरी महीने से अभी तक की है। बता दें कि मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर ने अपने लेटर में इसी समय वसूली किए जाने का जिक्र किया था।

यह भी पढ़ें: स्मृति ईरानी को पहचानेंः मिस इंडिया काॅन्टेस्ट से मीका सिंह के MV तक में आई नजर

sachin-waze (फोटो- सोशल मीडिया)

बुकी से भी वसूली का जिक्र

मिली जानकारी के मुताबिक, इस डायरी में होटल, पब और कारोबारियों के नाम के आगे रेडकार्ड भी लिखा है। कुछ बुकी से भी वसूली का जिक्र इसमें किया गया है। यही नहीं इस डायरी में कुछ लॉटरी और सट्टे-मटका वालों का नाम भी लिखा है, जिनके आगे पैसों का जिक्र भी किया गया है।

यह भी पढ़ें: भारत तपेगा बहुत ज्यादाः सूरज की गर्माहट बढ़ेगी इस साल, जानिए वजह

ऐसे होती थी वसूली

जांच में सामने आया है कि सचिन वाजे खुद वसूली नहीं करता था, बल्कि उसके नाम पर इसके कुछ करीबी अपराधी उगाही कर रकम को आगे पहुंचाने का काम करते थे। एनआईए अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल हमारा मुख्य फोकस जिलेटिन की झड़े कहां से उपलब्ध हुई, इसकी जांच करना है।

यह भी पढ़ें: योग गुरु स्वामी ओमानंद सरस्वती की पुण्यतिथि, कैसे बनें ब्रह्मचारी, पढ़ें पूरी खबर

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story