Top

अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू पर IT की रेड पर शुरू हुई सियासत, राहुल ने मुहावरे से दागे सवाल

टैक्स चोरी के मामले में आयकर विभाग की तरफ से फिल्ममेकर अनुराग कश्यम और अभिनेत्री तापसी पन्नू सहित अन्य फिल्मी सितारों के ऑफिस और घरों पर की गई कार्रवाई पर नेताओं की तरफ से सवाल खड़े करने का दौर शुरू हो गया है।

raghvendra

raghvendraBy raghvendra

Published on 4 March 2021 7:13 AM GMT

अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू पर IT की रेड पर शुरू हुई सियासत, राहुल ने मुहावरे से दागे सवाल
X
फोटो— सोशल मीडिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। हर बार की तरह इस बार भी आयकर विभाग की छापेमारी की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे हैं। टैक्स चोरी के मामले में आयकर विभाग की तरफ से फिल्ममेकर अनुराग कश्यम और अभिनेत्री तापसी पन्नू सहित अन्य फिल्मी सितारों के ऑफिस और घरों पर की गई कार्रवाई पर नेताओं की तरफ से सवाल खड़े करने का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जांच एजेंसी की कार्रवाई पर मुहावरे के जरिए तंज कसते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि केंद्र सरकार केंद्रीय जांच एजेंसियों आयकर विभाग, ईडी और सीबीआई को अपनी उंगलियों पर नचाती है।

आयकर विभाग के विरोध में उतरी कांग्रेस

फिल्ममेकर अनुराग कश्यम और अभिनेत्री तापसी पन्नू पर कसते आयकार विभाग के शिकंजे के विरोध में कांग्रेस पार्टी खुलकर आ गई है। यही कारण है कि राहुल गांधी के बाद कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी और उदित राज ने आयाकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल उठाया हैं। बता दें कि राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा है कि कुछ मुहावरे: उंगलियों पर नचाना- केंद्र सरकार IT Dept-ED-CBI के साथ ये करती है। भीगी बिल्ली बनना- केंद्र सरकार के सामने मित्र मीडिया। खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे- जैसे केंद्र सरकार किसान-समर्थकों पर रेड कराती है।



इसे भी पढ़ें: IT की ताबड़तोड़ छापेमारी: 3 दिन तक जारी रहेगी रेड, खंगाले जा रहे सभी सबूत

अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रधानमंत्री पर साधा निशाना

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए लिखा है कि सरकार के खिलाफ बोलने वाले बॉलीवुड के कुछ लोगों पर छापे मारे जा रहे हैं। वहीं अन्य लोगों के खिलाफ छापेमारी की कार्रवाई नहीं की जा रही है, क्योंकि उन्होंने कुछ दिन गुजारे हैं गुजरात में। हालांकि वह कुछ लोग कौन हैं इसे उन्होंने स्पष्ट नहीं किया है। लेकिन सवाल यह है कि क्या जांच एजेंसियों को सवाल उठाने वालों से पूछकर कार्रवाई करनी चाहिए। सवाल उठाने वालों को भी चाहिए कि कुछ लोगों की तरफ इशारा करने की जगह नाम के साथ खुलासा करें, जिससे यह स्पष्ट हो सके कि जांच एजेंसियां किन लोगों को बचा रही हैं।



उदित राज ने अभिव्यक्ति की आजादी पर उठाए सवाल

इसी क्रम में कांग्रेस नेता उदित राज ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि इस देश में अब सच बोलने का इनाम अब इनकम टैक्स रेड है। तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप सच कहते /लिखते हैं, सरकार ने इनाम दे दिया है। हम अनुराग/पन्नू के साथ हैं। सच के साथ हैं।



जांच का विरोध क्यों

बताते चलें कि फिल्ममेकर अनुराग कश्यम और अभिनेत्री तापसी पन्नू केंद्र सरकार की नीतियों का लगातार विरोध करते आ रहे हैं। हाल ही में कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों का भी इन लोगों ने खुलकर समर्थन किया था। लेकिन इसका मतलब यह है कि इनकी चोरी पर कोई कार्रवाई न की जाए, या फिर जांच एजेंसियों को विपक्ष से पूछकर इन लोगों पर कार्रवाई करनी चाहिए। केंद्रीय जांच एजेंसियों पर सवाल उठाने वालों को भी इस बात का ध्यान रखना होगा कि उनकी इस हरकत से जांच एजेंसियों की संवैधानिकता खतरे में आ रही है।

इसे भी पढ़ें: अनुराग-तापसी की उड़ी नींदः देर रात चली पूछताछ, IT का एक्शन जारी, फिर होगी रेड

raghvendra

raghvendra

राघवेंद्र प्रसाद मिश्र जो पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के बाद एक छोटे से संस्थान से अपने कॅरियर की शुरुआत की और बाद में रायपुर से प्रकाशित दैनिक हरिभूमि व भाष्कर जैसे अखबारों में काम करने का मौका मिला। राघवेंद्र को रिपोर्टिंग व एडिटिंग का 10 साल का अनुभव है। इस दौरान इनकी कई स्टोरी व लेख छोटे बड़े अखबार व पोर्टलों में छपी, जिसकी काफी चर्चा भी हुई।

Next Story