Top

सरकार को महंगाई के मोर्च पर झटका, इतनी बढ़ गई अप्रैल में रिटेल महंगाई दर

खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से खुदरा मुद्रास्फीति अप्रैल महीने में बढ़कर 2.92 प्रतिशत हो गयी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के आंकड़े के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति इससे पिछले महीने 2.86 प्रतिशत तथा एक साल पहले अप्रैल 2018 में 4.58 प्रतिशत पर थी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 13 May 2019 2:05 PM GMT

सरकार को महंगाई के मोर्च पर झटका, इतनी बढ़ गई अप्रैल में रिटेल महंगाई दर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से खुदरा मुद्रास्फीति अप्रैल महीने में बढ़कर 2.92 प्रतिशत हो गयी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के आंकड़े के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति इससे पिछले महीने 2.86 प्रतिशत तथा एक साल पहले अप्रैल 2018 में 4.58 प्रतिशत पर थी।

यह भी पढ़ें...सामूहिक हत्याकांड : BJP विधायक अशोक चंदेल समेत 3 ने कोर्ट में किया सरेंडर

आंकड़ों के अनुसार खाद्य पदार्थों की श्रेणी में महंगाई दर अप्रैल में 1.1 प्रतिशत पर पहुंच गई जो मार्च में 0.3 प्रतिशत थी।

यह भी पढ़ें...आतंकी ग्रुप्स नहीं दुनिया के इन 4 देशों ने भी तैयार किए थे आत्मघाती दस्ते

रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति पर विचार करते समय मुख्य रूप से उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति पर गौर करता है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story