राजस्थान: बच्चों की मौत पर दो खेमे में कांग्रेस, स्वास्थ मंत्री के निशाने पर पायलट

राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत ने एक बार सियासत को गरमा दिया है। बच्चों की मौत को लेकर विपक्ष तो सरकार को निशाना बना रही है, लेकिन खुद सत्ताधारी लोगों के विचार ही इस मुद्दे पर एक-दूसरे से अलग हो गए है।

Published by suman Published: January 5, 2020 | 7:45 pm

कोटा: राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत ने एक बार सियासत को गरमा दिया है। बच्चों की मौत को लेकर विपक्ष तो सरकार को निशाना बना रही है, लेकिन खुद सत्ताधारी लोगों के विचार ही इस मुद्दे पर एक-दूसरे से अलग हो गए है। बच्चों की मौत पर कांग्रेस दो खेमा में बंट गया है, हालात इतनी खराब हो गए कि कांग्रेस सरकार की अंदरुनी कलह सबके सामने है।

शनिवार को राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कोटा के जेके लोन अस्पताल का दौरा किया था, इस दौरे के बाद उन्होंने सीएम अशोक गहलोत पर निशाना साधा था। सचिन पायलट ने कहा था कि हम सरकार में काफी समय से है तो अब इसकी जिम्मेदारी हमें लेनी होगी। अब पायलट के इस बयान के बाद चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने भी सचिन पायलट को घेरा।

यह पढ़ें…अभी-अभी हुआ बड़ा रेल हादसा, ट्रेन के कई डिब्बे पटरी से उतरे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

 

 

 

जिसके बाद अब राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री सचिन पायलट को घेरते हुए कहा कि जब अस्पताल की छत टपक रही थी और खिड़कियां टूटी हुई थी तो अस्पताल प्रशासन पीडब्ल्यूडी विभाग को लिख रहा था। इसे ठीक करने के लिए कदम क्यों नहीं उठाए गए?

रघु शर्मा ने कहा कि जिम्मेदारी सभी जनप्रतिनिधियों की है। हर महीने मीटिंग होती है, उसमें स्थानीय जनप्रतिनिधि क्यों नहीं जाते हैं ताकि अस्पताल की समस्या के बारे में समझाया और बताया जा सके। दरअसल, कोटा में सचिन पायलट ने जिम्मेदारी तय करने की बात कही थी।

कोटा के जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 107 पार कर गया है।राज्य के डिप्टी सीएम सचिन पायलट शनिवार को कोटा अस्पताल पहुंचे। कोटा में बच्चों की मौत पर पायलट ने अपनी सरकार के रवैये पर निशाना साधा और कहा कि हमें जिम्मेदारी तय करनी होगी। सचिन पायलट ने कहा कि पहले क्या हुआ इस पर चर्चा नहीं होनी चाहिए। वसुंधरा को जनता ने हरा दिया लेकिन अब जिम्मेदारी हमारी है।

यह पढ़ें…रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में दुनिया में अपना खास मुकाम बनायेगा यूपी: राजनाथ सिंह

बता दें कि  राजस्थान के कोटा में बच्चों के मरने का सिलसिला अभी तक थमने का नाम नहीं ले रहा, जेके लोन अस्पताल में बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़कर रविवार को 110 पहुंच गया है। विशेषज्ञों की टीम ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि हाइपोथर्मिया (शरीर का तापमान असंतुलित हो जाना) के कारण बच्चों की मौत हुई है। अस्पताल में बुनियादी सुविधाओं की कमी भी इसकी वजह है। राजस्थान सरकार की ओर से बच्चों की मौत के कारण का पता लगाने के लिए गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट में पुष्टि की है कि हाइपोथर्मिया के कारण शिशुओं की मौत हुई है। राजस्थान के कोटा स्थित जे. के.लोन सरकारी अस्पताल में एक महीने में 105 बच्चों की मौत के बाद सरकार ने जांच पैनल नियुक्त किया था । इससे पहले मुख्यमंत्री  गहलोत ने कोटा में बच्चों की मौत पर असंवेदनशील बयान दिया था। जिसको लेकर सचिन पायलट ने निशाना साधा है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App