बाढ़ से हाहाकार: पानी में डूबे गांवों में खाने को नहीं, हो गया ऐसा हाल

असम में बाढ़ से त्राहि-त्राहि मची हुई है। प्रदेश के कई ऐसे गांव हैं जो महीनों से टापू बने हुए हैं। सड़कें पानी में डूबी हुई हैं। आप जिधर नजर दौड़ाएंगे पानी ही पानी नजर आएगा और उसमें मकान डूबे हुए दिखेंगे।

Flood Assam

Flood Assam

गुवाहाटी: असम में बाढ़ से त्राहि-त्राहि मची हुई है। प्रदेश के कई ऐसे गांव हैं जो महीनों से टापू बने हुए हैं। सड़कें पानी में डूबी हुई हैं। आप जिधर नजर दौड़ाएंगे पानी ही पानी नजर आएगा और उसमें मकान डूबे हुए दिखेंगे। असम के एक गांव एक महीने से बाढ़ के पानी में डूबा हुआ है। अब इस गावं में लोगों के पास खाने तक को नहीं है।

बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों को राशन पहुंचाने की किसी की हिम्मत नहीं हो रही है। बाढ़ प्रभावित इस गांव का नाम है जेलेंगी टूप गांव। यह तो एक गांव की कहानी है। असम में बाढ़ की भयावह स्थिति है। राज्य में नदियां उफान पर है और कहर बरपा रही हैं। असम में ब्रह्मपुत्र नदी पूरे उफान पर है और प्रदेश में जल प्रलय जैसी स्थिति है।

प्रदेश में बाढ़ से 30 जिले बुरी तरह प्रभावित हैं। इन गांवों में रहने वाले 56 लाख के सामने परशानियों का पहाड़ खड़ा है। राज्य सरकार द्वारा जारी रिपोर्ट में यह बातें बताई गई हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, 22 मई के बाद से असम में बाढ़ का अब तक कुल 56 लाख 89 हजार 584 लोगों पर असर पड़ा है जबकि 109 लोगों ने जान गवां दी है।

यह भी पढ़ें…राष्ट्रीय शिक्षा नीति : बदलाव समय की मांग थी, कार्यान्वयन पर निगाह

असम की सरकार ने बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 600 से ज्यादा राहत शिविर केंद्र बनाए हैं। राज्य आपदा राहत बल, एनडीआरएफ, सर्कल कार्यालय समेत अन्य विभाग बाढ़ से बचाव कार्य में लगे हुए हैं।

यह भी पढ़ें…IPL को हरी झंडी: UAE में होगा फाइनल, भारत सरकार ने दी मंजूरी

अब तक बाढ़ में फंसे 81,678 लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा गया है। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए कई प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था।

यह भी पढ़ें…किसानों की बल्ले-बल्ले: मोदी सरकार का बड़ा फैसला, 1 लाख को होगा फायदा

असम में इंसान ही जानवर भी बाढ़ की मार झेल रहे हैं। बाढ़ के पानी में काजीरंगा नेशनल पार्क का अधिकतर हिस्सा डूब चुका है। कई गैंडे मारे जा चुके हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App