राम जन्मभूमि: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर फिर बोले ओवैसी, दिया ये बड़ा बयान

अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि वह अपनी मस्जिद वापस चाहते हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मुझे अपनी मस्जिद वापस चाहिए।

नई दिल्ली: अयोध्या में राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि वह अपनी मस्जिद वापस चाहते हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मुझे अपनी मस्जिद वापस चाहिए।

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने असंतुष्टि जताई थी। उन्होंने कहा था कि मैं इस फैसले से संतुष्ट नहीं हूं। साथ ही मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ जमीन देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ओवैसी ने कहा था कि हमें खैरात की जमीन नहीं चाहिए।

यह भी पढ़ें…जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को लेकर आई बड़ी खबर

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अगर मस्जिद वहां पर रहती तो सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला लेता? यह कानून के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद नहीं गिरती तो फैसला क्या आता? हमें हिंदुस्तान के संविधान पर भरोसा है। हम अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे।

AIMIM चीफ ने कहा कि 5 एकड़ जमीन की खैरात की जरूरत नहीं है। मुस्लिम गरीब हैं, लेकिन मस्जिद बनाने के लिए हम पैसा इकट्ठा कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें…तो इमरान देंगे इस्तीफा! मौलाना का प्लान-B हुआ तैयार, पाक PM की टेंशन टाइट

फैसले वाले दिन असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि हमें 5 एकड़ के ऑफर को खारिज कर देना चाहिए। ओवैसी ने आरोप लगाया कि ये मुल्क अब हिंदूराष्ट्र के रास्ते पर जा रहा है।

बता दें कि राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने राम जन्मभूमि विवाद मामले पर 40 दिन तक लगातार सुनवाई की और फिर फैसला सुरक्षित रख लिया था। अब सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर फैसला सुना दिया है।

यह भी पढ़ें…राफेल डील: राजनाथ ने कहा, कांग्रेस को माफ नहीं करेगा देश, इसलिए लगाए झूठे आरोप

सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में इस मामले के तीन पक्षों में से हिंदू पक्ष(रामलला) को विवादित भूमि दे दी। जबकि मुस्लिम पक्ष सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में ही अलग स्थान पर 5 एकड़ भूमि देने का आदेश दिया है।