सरकार का ऐलान! सरकारी कर्मचारियों को मिली बड़ी खुशखबरी

सरकार के बैंकों को एकीकृत करने के फैसले के बाद से बैंक कर्मी हड़ताल पर जा रहे हैं, जिसकी वजह से आमआदमी को दिक्कत झेलनी पड़ सकती है। हड़ताल और साप्ताहिक छुट्टी की वजह से लगातार चार दिनों तक बैंक बंद रहेंगे। इस खबर के आते ही सरकारी कर्मचारियों को सैलरी को लेकर चिंता बढ़ गई है। केंद्र सरकर भी इसकी वजह से कोई भी रिस्क नहीं लेना चाहती है।

नई दिल्ली: सरकार के बैंकों को एकीकृत करने के फैसले के बाद से बैंक कर्मी हड़ताल पर जा रहे हैं, जिसकी वजह से आमआदमी को दिक्कत झेलनी पड़ सकती है। हड़ताल और साप्ताहिक छुट्टी की वजह से लगातार चार दिनों तक बैंक बंद रहेंगे। इस खबर के आते ही सरकारी कर्मचारियों को सैलरी को लेकर चिंता बढ़ गई है। केंद्र सरकर भी इसकी वजह से कोई भी रिस्क नहीं लेना चाहती है। लगातार चार दिनों तक बैंक बंद को देखते हुए केंद्र सरकार ने 5 दिन पहले ही सरकारी कर्मचारियों को सैलरी देने का निर्देश दिया है। वित मंत्रालय के कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स की तरफ से जारी किया गया निर्देश।

आपको बता दें कि यह पहला ऐसा मामला होगा जब सरकारी कर्मचारियों को पांच दिन पहले ही सैलरी मिल जाएगी। मंत्रालय के कंट्रोलर जनरल ऑफ अकाउंट्स, शाखा की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को 25 सितंबर को ही वेतन जारी कर दिया जाए।

ये भी देखें:पेट्रोल-डीजल पर बड़ी खबर: जानें क्या है आप शहर में प्राइज

साप्ताहिक छुट्टी की वजह से लगातार 4 दिन बंद रहेंगे बैंक

Image result for government bank

चार बैंक यूनियनों ने दो दिन के हड़ताल का ऐलान किया है जो 26 सितंबर से शुरू होगा। अगर इन बैंकों का यह ऐलान सफल होता है तो अगले सप्ताह लगातार 4 दिनों तक बैंक बंद रहेंगे। हड़ताल 26 से 29 सिंतबर तक रहेगा, जिस दौरान बैंकिंग सेवाएं भी बाधित रहेंगी। चार बैंक यूनियन, जिसमें ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन, ऑल इडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशंस, इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स कांग्रेस और नेशनल ऑर्गेनाइेशन बैंक ऑफिसर्स ने 26 सितंबर और 27 सिंतबर को हड़ताल की मांग की है। इन यूनियनों ने सरकार द्वारा 10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाने के फैसले के विरोध में यह फैसला किया है।

बाधित हो सकती हैं चेक व एटीएम सेवाएं

Image result for government bank

बैंकों में हड़ताल की वजह से न केवल चेक बल्कि एटीएम सेवाएं भी बाधित हो सकती हैं। नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर और रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट सिस्टम भी अभी 24’7 सेवाएं नहीं देता है। दिसंबर माह से ये दोनों सेवाएं 24।’7 होंगी। मौजूदा समय में ये दोनों सेवाएं सुबह 8 बजे से शाम को 7 बजे तक ही उपलब्ध होती हैं। हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को यह सेवाएं बंद होती हैं।

अलगे सप्ताह 3 दिनों के लिए ही खुलेंगे बैंक

Image result for government bank

बैंक यूनियनों ने गुरुवार और शुक्रवार को हड़ताल करने की घोषणा की है। 28 सितंबर को महीने के चौथे शनिवार होने की वजह से छुट्टी रहेगी और रविवार को बैंकों का वीकली ऑफ होता है। इसके बाद अगले सप्ताह अधिकतर बैंक केवल तीन दिनों के लिए ही खुले रहेंगे। ऐसे में लगातार चार दिनों तक बैंकों की छुट्टी का असर आम आदमी पर भी पड़ेगा। 30 सितंबर को सोमवार है और इस दिन बैंक खुले रहेंगे। ऐसे में सैलरी क्लास के लिए राहत की बात है कि उनकी सैलरी नहीं अटकेगी।

ये भी देखें:हज़ारों पाकिस्तानी अलगाववादी: कुछ ऐसा दिखा HowdyModi प्रोग्राम

इन सुविधाओं के बंद नहीं होने की उम्मीद

हड़ताल के ये दो दिन बैंकों की आधिकारिक छुट्टी नहीं है, ऐसे में उम्मीद है कि इंटरनेट बैंकिंग, ऑनलाइन RTGS, NEFT, IMPS और UPI ट्रांसफर जैसी सुविधांए न बंद हों।