PM Cares Fund में दिए करोड़ों: कोरोना के खिलाफ जंग में आगे आई ये बीमा कंपनी

कोरोना के कारण प्रवासी मजदूरों और दिहाड़ी कमाने वालों के मदद के​ लिए एनआर नारायणमूर्ति और उनके परिवार ने अपने पर्सनल फंड से अक्षय पात्र फाउंडेशन को 10 करोड़ रुपये देने का वचन दिया है। यह फंड ऐसे प्रवासी मजदूरों और दिहाड़ी कमाने वालों को खाना खिलाने और जरूरी सामान मुहैया कराने पर खर्च किया जाएगा,

Published by SK Gautam Published: April 2, 2020 | 12:12 pm
Modified: April 2, 2020 | 12:15 pm

 नई दिल्ली: देश में चाहे कोई भी संकट आये, अगर देश के जिम्मेदार और उच्च पदों पर बैठे नागरिक देश की सही समय पर मदद करते हैं तो कोरोना जैसी महामारी से भी आसानी से निबटा जा सकता है। सही समय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का असर साफ़-साफ़ दिखाई दे रहा है और कॉरपोरेट जगत ने अपना खजाना खोल दिया है। बल्कि हर क्षेत्र से पीएम केअर्स फंड में दान आ रहा है।

भारतीय जीवन बीमा निगम ने 105 करोड़ रुपये दिए

इसी क्रम में पीएम केअर्स फंड में भारतीय जीवन बीमा निगम ने 105 करोड़ रुपये दिए हैं। प्रख्यात उद्योगपति नारायणमूर्ति ने भी कोरोना से निपटने के लिए 10 करोड़ रुपये लगाने का वचन दिया है, हालांकि वह पीएम केअर्स फंड में डोनेट नहीं करेंगे।

नआर नारायणमूर्ति ने 10 करोड़ रुपये देने का वचन दिया

कोरोना के कारण प्रवासी मजदूरों और दिहाड़ी कमाने वालों के मदद के​ लिए एनआर नारायणमूर्ति और उनके परिवार ने अपने पर्सनल फंड से अक्षय पात्र फाउंडेशन को 10 करोड़ रुपये देने का वचन दिया है। यह फंड ऐसे प्रवासी मजदूरों और दिहाड़ी कमाने वालों को खाना खिलाने और जरूरी सामान मुहैया कराने पर खर्च किया जाएगा, जो अपनी जीविका गंवा चुके हैं और बहुत संकट में हैं।

ये भी देखें: निकाली बम्पर भर्तियां: इस विभाग ने दिया तोहफा, जानें कैसे करें अप्लाई

अक्षय पात्र फाउंडेशन कर रहा बड़ा काम

गौरतलब है कि अक्षय पात्र फाउंडेशन के द्वारा प्रवासी मजदूरों और रोज कमाकर जीविका चलाने वालों को खाना और रोजमर्रा के जरूरी सामान मुहैया किए जा रहे हैं। मूर्ति परिवार की मदद से लॉकडाउन में फंसे गरीबों को 55 लाख पैकेट से ज्यादा भोजन मुहैया किया जाएगा। यह मदद बेंगलुरु, दिल्ली, पुणे, मथुरा और हैदराबाद जैसे शहरों में की जाएगी।

भारत इस महामारी की वजह से गंभीर चुनौती का सामना कर रहा-एम.आर. कुमार

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए पीएम केअर्स फंड में 105 करोड़ रुपये दान किए हैं। एलआईसी के चेयरमेन एम.आर. कुमार ने कहा कि भारत इस महामारी की वजह से गंभीर चुनौती का सामना कर रहा है। गौरतलब है कि एलआईसी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी है और उसका एसेट बेस करीब 31 लाख करोड़ रुपये का है।

ये भी देखें: कोरोना वायरस: अमेरिका में एक दिन में हुई मौतों ने पूरी दुनिया को हिला दिया

डीएलएफ ने दिए मुख्यमंत्री के राहत कोष में 5 करोड़

डीएलएफ ने कोरोना महामारी के प्रकोप से निपटने के लिए हरियाणा मुख्यमंत्री के राहत कोष में 5 करोड़ की आर्थिक मदद की है। इसके अलावा डीएलएफ गुरुग्राम और मानेसर में 60,000 से अधिक प्रवासी मजदूरों को खाना खिला रहा है। डीएलएफ फाउंडेशन ने भी पके हुए भोजन के वितरण के लिए अक्षय पात्र की सेवाएं ली हैं। के साथ मिलकर प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन प्रदान कर रही है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से जंग में मदद के लिए ​पीएम केअर्स फंड के गठन का शनिवार को पीएम मोदी ने ऐलान किया और देशवासियों से यह आह्वान किया कि वे कोरोना से मुकाबले के लिए इसमें ज्यादा से ज्यादा दान करें।

ये भी देखें: Live: लॉकडाउन के बाद पहली बार आज पीएम मोदी मुख्यमंत्रियों से करेंगे बात

इन्होनें भी किया महादान

इसके बाद इस फंड में दान करने के लिए कॉरपोरेट से लेकर फिल्मी सितारों तक होड़ लग गई। टाटा समूह ने कुल 1500 करोड़ रुपये का दान करने का ऐलान किया। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इसमें 500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। इसके अलावा बड़े कॉरपोरेट समूहों की बात करें तो अडानी ग्रुप, वेदांता समूह, पेटीएम, जिंदल समूह, आदि इसमें सैंकड़ों करोड़ रुपये डोनेट करने का ऐलान कर चुके हैं।