बेंगलुरु हिंसा: कर्नाटक सरकार अपनाएगी ‘योगी मॉडल’, दोषियों से नुकसान की भरपाई

कर्नाटक सरकार ने यूपी के ‘योगी मॉडल’ की तर्ज पर हिंसा में शामिल उपद्रवियों से सरकारी सम्पतियों की नुकसान की भरपाई करने का निर्णय लिया है।

Published by Aditya Mishra Published: August 13, 2020 | 10:48 am
Modified: August 13, 2020 | 11:04 am
बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें

बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें

बेंगलुरु: कर्नाटक के बेंगलुरु में मंगलवार को शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया। उपद्रवियों ने कई स्थानों पर जमकर तोड़फोड़ की और पुलिस स्टेशन व विधायक के घर को आग के हवाले कर दिया।

इस पूरे घटना के पीछे एक फेसबुक पोस्ट को जिम्मेदार बताया जा रहा है। आरोप है कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद कुछ लोगों की भावनाएं आहत हुई थी। इस घटना के सामने आने के बाद से उपद्रवियों की तलाश तेज हो गई है।

इस बीच बेंगलुरु में ‘योगी मॉडल’ की चर्चा हो रही है। वो इसलिए क्योंकि बेंगलुरु दंगे पर कर्नाटक सरकार ने यूपी के ‘योगी मॉडल’ की तर्ज पर हिंसा में शामिल उपद्रवियों से सरकारी सम्पतियों की नुकसान की भरपाई करने का निर्णय लिया है।

बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें
बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें

गृहमंत्री का बयान

कर्नाटक के गृहमंत्री ने कहा है, कि दंगों के दोषियों की संपत्ति जब्त करके नुकसान की भरपाई की जाएगी।कर्नाटक सरकार के इस फैसले की जड़ में उत्तर प्रदेश सरकार का योगी मॉडल है जिसकी चर्चा इस देश में ही नहीं बल्कि दुनिया में हो चुकी है।

ये भी पढ़ें: UP में अब हारेगा कोरोना: दुकानदारों समेत इन सभी की होगी जांच, मिला निर्देश

सुनियोजित साजिश है बेंगलुरु दंगा

कर्नाटक के कैबिनेट मंत्री सीटी रवि ने बेंगलुरु दंगे को सुनियोजित साजिश बताते हुए एक घंटे से ज्यादा वक्त तक पेट्रोल बम फेंके जाने की बात कही है।

उन्होंने कहा कि बैंगलुरू में हुआ दंगा सुनियोजित साजिश थी, जिसके पीछे एसडीपीआई के पार्षद मुज्जमिल पाशा का हाथ हो सकता है। आपको बता दें कि एसडीपीआई दिल्ली यूपी में दंगों की साजिश के आरोपी पीएफआई का सहयोगी संगठन है।

बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें
बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें

क्या है ये मामला

आरोप है कि कांग्रेस के विधायक श्रीनिवास मूर्ति के किसी करीबी ( भतीजे) ने एक फेसबुक पोस्ट लिखा, इसमें एक समुदाय विशेष आपत्तिजनक पोस्ट की। इससे एक समुदाय के लोग भड़क उठे। इसी के बाद हाली पुलिस स्टेशन-विधायक के घर का घेराव किया गया।

करीब 9.30 बजे भीड़ की मौजूदगी हजारों की संख्या तक पहुंच गई। जिसके बाद तोड़फोड़ शुरू हुई और देखते ही देखते भीड़ ने विधायक के घर, पुलिस स्टेशन को आग के हवाले कर दिया।

ये भी पढ़ें: सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती से ED की पूछताछ, इन सवालों के देने होंगे जवाब

बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें
बेंगलुरु हिंसा की तस्वीरें

पुलिस के वाहनों को भी नहीं बक्शा

इस घटना में एक दर्जन के करीब पुलिस के वाहनों को जलाया गया। जिसके बाद पुलिस ने भीड़ पर काबू पाने के लिए पहले लाठीचार्ज किया, इसके बाद खुली फायरिंग कर दी। पुलिस फायरिंग में ही दो लोगों के मारे जाने की खबर है। इसके अलावा कई लोग घायल भी हुए हैं।

कांग्रेस विधायक के भतीजे ने इस मामले में सफाई पेश की है। उसने कहा कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक हो गया था। उसने किसी भी धर्म को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है। विधायक मूर्ति ने भी भतीजे के बचाव में बयान जारी किया है।

ये भी पढ़ें: Whatsapp में आ रहे ये गजब के फीचर्स, इनके बारे में यहां जानिए सबकुछ

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App