भूषण स्टील के EX सीएमडी के खिलाफ कार्रवाई, ईडी ने जब्त की 204 करोड़ की संपत्ति

ईडी ने 47 हजार करोड़ रुपये के बैंक कर्ज घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भूषण पावर एंड स्टील लिमिटेड बीपीएसएल के पूर्व सीएमडी संजय सिंघल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी 204 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। इसमें सिंघल की दिल्ली और लंदन स्थित चल और अचल संपत्तियां शामिल हैं।

Published by suman Published: January 19, 2020 | 11:47 am

नई दिल्ली :ईडी ने 47 हजार करोड़ रुपये के बैंक कर्ज घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भूषण पावर एंड स्टील लिमिटेड बीपीएसएल के पूर्व सीएमडी संजय सिंघल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी 204 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। इसमें सिंघल की दिल्ली और लंदन स्थित चल और अचल संपत्तियां शामिल हैं।

 

 

यह पढ़ें…किरण मजूमदार शॉ को मिला सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया’

 

जांच एजेंसी ने शनिवार को एक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी। अब तक एजेंसी इस मामले में 4229 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है। ईडी ने संजय सिंघल को ही इस कर्ज घोटाले का ‘मास्टरमाइंड’ करार दिया है। ईडी ने करोड़ों रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शुक्रवार को सिंघल और अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। सिंघल को मामले में पूछताछ के बाद मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत पिछले साल 22 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

विशेष न्यायाधीश अरुण भारद्वाज की अदालत ने 24 व्यक्तियों व कंपनी को आरोपी मानकर दाखिल की गई चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए सिंघल को 21 जनवरी को पेश करने के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी किया है। ईडी का आरोप है कि कंपनी और उसके निदेशकों ने जानबूझकर कर्जदाता बैंकों की रकम लौटाने में चूक की और उनके खाते लगातार अनियमित बने रहे।

 

यह पढ़ें…दिल्ली पर बड़ा हमला करने की साजिश में आतंकी, हाईअलर्ट जारी

बीपीएसएल ने अपने निदेशकों के जरिये 33 बैंकों वित्तीय संस्थानों से 2007 से 2014 के बीच कर्ज लिया, जो वापस नहीं करने के चलते 30 जनवरी, 2018 को बढ़कर 47,204 करोड़ रुपये आंका गया था। पीएनबी की चंडीगढ़ स्थित कॉरपोरेट शाखा के नेतृत्व वाले बैंक समूह से यह कर्ज कार्यशील पूंजी, प्लांट की मशीनरी खरीदने के लिए टर्म लोन, नॉन-फंड बेस टर्म लोन जैसे विभिन्न तरीकों से लिए गए।