बड़ी खबर: ये सरकारी कंपनी 80 हजार कर्मचारियों को करेगी रिटायर!

घाटे में चल रही सरकारी टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) अपने आधे कर्मचारियों को वॉलंटरी रिटायरमेंट(वीआरएस) देने की तैयारी कर रही है। बीएसएनएल को सिर्फ सरकार की इजाजत का इंतजार है।

नई दिल्ली: घाटे में चल रही सरकारी टेलीकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) अपने आधे कर्मचारियों को वॉलंटरी रिटायरमेंट(वीआरएस) देने की तैयारी कर रही है। बीएसएनएल को सिर्फ सरकार की इजाजत का इंतजार है। सरकार से हरी झंडी मिलते ही कंपनी इन कर्मचारियों को एक आकर्षक पैकेज देकर रिटायर कर देगी।

यह भी पढ़ें…बड़ा बम धमाका! 50 लोगों की जान जोखिम में, हिल गया पूरा पंजाब

यह जानकारी बीएसएनएल के चेयरमैन प्रवीण कुमार पुरवार ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में दी है। उनका कहना है कि कंपनी वीआरएस प्रस्ताव पर विचार कर रही है।

उन्होंने बताया कि बीएसएनएल 70 से 80 हजार कर्मचारियों को वीआरएस देना चाहती है। इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि इतने कर्मचारियों को रिटायर कर दिए जाने के बाद काम कैसे चलेगा? तो इस पर उन्होंने कहा कि तब हम काम चालने के लिए आउटसोर्सिंग करेंगे। लोगों को मासिक कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर रखने का भी विकल्प होगा।

यह भी पढ़ें…भारत-रूस के बीच हुए ये 15 बड़े समझौते, अब पाकिस्तान का रोना शुरू

उन्होंने अंग्रेजी अखबार को बताया कि अभी भी बीएसएनएल में बहुत कर्मचारी हैं। अगर 60 से 70 हजार कर्मचारी भी वीआरएस लेते हैं तो 1 लाख कर्मचारी बचेंगे।’

बीएसएनएल के कर्मचारियों की संख्या करीब 1,65,179 है। इनके वेतन पर कंपनी की कुल आय का करीब 55 फीसद खर्च होता है। कंपनी के 14,000 करोड़ रुपए के नुकसान में होने का अनुमान है जबकि 2018-19 में उसकी कुल आय 19,308 करोड़ रुपए थी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App