×

Lok Sabha Elections 2024: 23 जून को पटना में महाबैठक, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

Lok Sabha Elections 2024: बैठक को सबसे पहले नितिश कुमार संबोधित करेंगे। इसके बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे महागठबंधन की महत्ता पर प्रकाश डालेंगे। अलग-अलग राज्यों में भाजपा से लड़ने की रणनीतियों पर चर्चा की जाएगी।

Anant Shukla
Published on: 19 Jun 2023 12:33 PM GMT (Updated on: 19 Jun 2023 12:40 PM GMT)
Lok Sabha Elections 2024: 23 जून को पटना में महाबैठक, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा
X
opposition parties meeting schedule in patna on 23rd june (Photo-Social Media)

Lok Sabha Elections 2024: लोक सभा चुनाव 2024 को लेकर सभी विपक्षी पार्टियां सक्रीय नजर आ रही हैं। अभी तक तमाम नेता भाजपा विरोधि विचारधारा वाले नेताओं लगातार जोड़ने का काम कर रहे हैं। अब 23 जून को पटना में बैठक बुलाई गई है। मिली जानकारी के अनुसार सभा की शुरुआत बिहार के सीएम नितिश कुमार के संबोधन के साथ शुरु होगी। महाबैठक के शेड्यूल के बारे में मिली जानकारी के अनुसार, यह सुबह 11 बजे शुरू होगी। शाम चार बजे तक विमर्श चलेगा। इस दौरान सभी राजनीतिक दिग्गज दिन का भोजन भी एक साथ करेंगे। बैठक की शुरुआदत देश की वर्तमान बड़ी समस्याओं पर चर्चा के साथ होगी। इसके अलावा केन्द्र की मोदी सरकार किस कार्यशैली पर भी मंथन होगा। 2024 में किस मुद्दे को गंभीरता से उठाना है जैसे तमम विषयों पर विमर्ष किया जा सकता है।

खरगे समझाएंगे- विपक्षी एकता का महत्व

बैठक को सबसे पहले नितिश कुमार संबोधित करेंगे। इसके बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे महागठबंधन की महत्ता पर प्रकाश डालेंगे। अलग-अलग राज्यों में भाजपा से लड़ने की रणनीतियों पर चर्चा की जाएगी। किस राज्य में कौन सी पार्टी को अधिक महत्व दिया जाएगा इस विषय पर काफी समय से मतभेद है संभव है कि बैठक के बाद स्थिति साफ हो जाएगी।

इन चार राज्यों के सीएम भी रखेंगे अपनी बात

महाबैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी सम्मिलित होगें, जो अपनी बात रखेंगे। बता दें कि विपक्षियों की एकजुटता को लेकर होने वाली महाबैठक को पटना में कराने का प्रस्ताव पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिया था। यही कारण है कि महाबैठक में उनका विशेष संबोधन होगा। इसके अलावां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और तमिलनाडु के मुख्यमांत्री स्टालिन का भी विशेष संबोधन होगा। होसकता है कि केजरीवाल केन्द्र सरकार द्वारा अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को खत्म करने के मामले को भी उटाएं। क्योंकि केजरीवाल ने पूर्व में इस मामले को कई बार उठा चुके हैं और कांग्रेस नें समर्थन भी किया है।

शरद पवार, उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र और अखिलेश रखेंगे यूपी की बात

बैठक में सभी विपक्षी दल अपने-अपने प्रदेश की प्रमुख मुद्दों से अवगत कराएंगे। इसके साथ ही यह भी बताएंगे कि उनके प्रदेश में विपक्षी एकता को प्रभावी व मजबूत किया जा सकता है। महाराष्ट्रमें विपक्षी एकता मजबूत करने के लिए एनसीपी नेता शरद पवार, शिव सेना (उद्धव, बाला साहब ठाकरे) अपनी बात रखेंगे। वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी उत्तर प्रदेश के तमाम मुद्दों को रखेंगे। बैठक में बिहार सरकार में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह मौजूद रहेंगे और अपनी बात को प्रमुखता से रखेंगे।

अंत में राहुल गांधी का संबोधन

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी महाबैठक को आखिरी में संबोधित करेंगे। सभी नेताओं की सुनने के बाद अपनी बात रखेंगे।

यहां ठहरेंगे अतिथि

बैठक में सम्मिलित होने के लिए आने वाले सभी अतिथियों के लिए राजकीय अतिथि गृह में रुकने का इंतजाम किया गया है। इसके अलाला पटना के सर्किट हाउस में भी इंतजाम किया गया है। यहां से सभी मेहमान मुख्यमंत्री आवास पहुंचेगें।

Anant Shukla

Anant Shukla

Next Story