मस्जिद पर मोदी का बड़ा एलान! राम मंदिर ट्रस्ट का भी बताया नाम

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर को ऐतिहासिक फैसले में एक सदी से अधिक पुराने मामले का पटाक्षेप करते हुए अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया और साथ में व्यवस्था दी कि पवित्र नगरी में मस्जिद के लिए पांच एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाए।

नई दिल्ली: राम मंदिर को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के कई महीनों बाद आज लोकसभा में बजट सत्र 2020 के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या स्थित श्री रामजन्म स्थल से जुड़े न्यास संबंधी जानकारी दी है।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘रामजन्मभूमि से जुड़ा मुद्दा मेरे दिल के बहुत करीब है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट का नाम- श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र होगा और यह इससे जुड़े सभी फैसले लेने में स्वतंत्र होगी।

‘सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने पर सहमत’

पीएम ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार वृहद योजना तैयार की जा रही है। इसके लिए अयोध्या में अधिग्रहित 67 एकड़ जमीन राम मंदिर ट्रस्ट को दी गई है। पीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश, अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन देने पर सहमत हो गया है।

ये भी पढ़ें—केजरीवाल की बेटी ने गिनाए ‘आप’ के काम,11 फरवरी को मिलेगा जवाब

आगे उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसला राम मंदिर के पक्ष में दिया था। इसने सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन देने को भी कहा था। आज सुबह, एक बैठक में, सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुरूप बड़े फैसले लिए गए हैं।

अदालत ने 9 नवंबर को सुनाया था फैसला

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने 9 नवंबर को ऐतिहासिक फैसले में एक सदी से अधिक पुराने मामले का पटाक्षेप करते हुए अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया और साथ में व्यवस्था दी कि पवित्र नगरी में मस्जिद के लिए पांच एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाए। अदालत ने कहा था कि विवादित 2.77 एकड़ जमीन अब केंद्र सरकार के रिसीवर के पास रहेगी, जो इसे सरकार द्वारा बनाए जाने वाले ट्रस्ट को सौंपेंगे।

ये भी पढ़ें—13 आतंकियों की मौत: सेना के जवानों ने बरसाई गोलियां, एक नेता भी मारा गया

पीठ ने केंद्र सरकार से कहा था कि मंदिर निर्माण के लिए तीन महीने के भीतर एक ट्रस्ट बनाया जाना चाहिए। तत्कालीन चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सर्वसम्मत फैसला दिया था।

प्रधानमंत्री को अमित शाह ने दी बधाई

गृहमंत्री ने लिखा- ‘श्री राम जन्मभूमि पर सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार आज भारत सरकार ने अयोध्या में प्रभु श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण की दिशा में अपनी कटिबद्धता दिखाते हुए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र नाम से ट्रस्ट बनाने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है।

जानकारी के मुताबिक रामजन्मभूमि न्यास के सदस्य महंत नृत्यगोपाल दास भी ट्रस्ट के सदस्य होंगे।