हैदराबाद गैंगरेप मर्डर: इस तरह पुलिस को मिला था आरोपियों का सुराग, जानिए पूरा सच

महिला डॉक्टर दिशा के साथ गैंगरेप करके हत्या के बाद शव को जलाने वाले आरोपियों के सीसीटीवी फुटेज और उस शख्स का पता चला है, जिसकी मदद से हैदराबाद पुलिस आरोपियों तक पहुंच पाई थी। इस शख्स ने ही पुलिस को आरोपियों के बारे में बताया था। इसके साथ ही पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराए थे।

हैदराबाद:  महिला पशु चिकित्सक (वेटनरी डॉक्टर) से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में एक वीडियो सामने आया है। इसी वीडियो के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी।  वीडियो हैदराबाद के एक पेट्रोल पंप का है. इस पेट्रोल पंप पर आरोपी लड़की को जलाने के लिए पेट्रोल खरीदने गया था।पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी फुटेज में रेप और हत्या के आरोपी जोलु शिवा को देखा गया है। जोलु शिवा रात में 12:56 बजे पेट्रोल खरीदने गया था। इस सीसीटीवी फुटेज के जरिए पुलिस को हैदराबाद गैंगरेप और हत्याकांड सुलझाने में काफी मदद मिली। आरोपियों की गिरफ्तारी में पेट्रोल पंप वीडियो बड़ा सबूत बना।

 इस शख्स ने दिया सुराग

दिशा के साथ गैंगरेप करके हत्या के बाद शव को जलाने वाले आरोपियों के सीसीटीवी फुटेज और उस शख्स का पता चला है, जिसकी मदद से हैदराबाद पुलिस आरोपियों तक पहुंच पाई थी। इस शख्स ने ही पुलिस को आरोपियों के बारे में बताया था। इसके साथ ही पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराए थे। सीसीटीवी फुटेज में डॉक्टर दिशा को जलाने के लिए आरोपी पेट्रोल पंप से पेट्रोल खरीदते नजर आ रहे हैं। पुलिस इन्हीं सीसीटीवी फुटेज के आधार पर डॉक्टर दिशा के आरोपियों तक पहुंची थी।

शनिवार को उस पूरे इलाके का जायजा लिया, जहां चारों दरिंदों ने मिलकर डॉक्टर दिशा के साथ हैवानियत की थी। घटनास्थल के पास पेट्रोल पंप पर मौजूद कर्मी ने बताया कि वारदात वाली रात लगभग एक बजे गैंगरेप का आरोपी जोलू शिवा डॉक्टर दिशा की लाश को जलाने के लिए पास के  पेट्रोल पंप पर पेट्रोल खरीदने के लिए आया था। आरोपी शिवा के हाथ में दो लीटर की खाली बोतल थी। हालांकि पेट्रोल पंप कर्मी ने उसको खुला पेट्रोल देने से इनकार कर दिया था।

यह पढ़ें….फांसी पर लटकना चाहता है निर्भया गैंगरेप का दोषी! राष्ट्रपति से की ये बड़ी मांग

 

इसके बाद आरोपी पेट्रोल पंप से चला गया था। इस दौरान पेट्रोल पंप कर्मी को शक हुआ, तो उसने आरोपी जोलू शिवा और उसके साथियों का पीछा किया। पेट्रोल पंप कर्मी ने बताया कि जब आरोपी को यहां पर पेट्रोल नहीं दिया गया, तो उसने आगे जाकर दूसरे पेट्रोल पंप से पेट्रोल खरीदा था। इसी पेट्रोल पंप में पेट्रोल खरीदने आए आरोपी जोलू शिवा की तस्वीरें सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई थीं। पुलिस को आरोपियों का पहला सुराग भी यहीं से मिला।इसी पेट्रोल पंप के कर्मी ने 100 नंबर पर फोन करके पुलिस को आरोपियों की जानकारी दी थी।

 

यह पढ़ें….बेहद शर्मनाक: यहां सीनियर डॉक्टर ने की महिला से ऐसी हरकत, छात्रों का प्रदर्शन जारी

पुलिस ने पेट्रोल पंप कर्मी की निशानदेही पर आरोपी का स्केच भी बनाया था। तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार सुबह एनकाउंटर में चारों आरोपियों को ढ़ेर कर दिया था। पुलिस के मुताबिक आरोपियों को शुक्रवार सुबह क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए घटनास्थल पर ले जाया गया था, तभी आरोपी हथियार छीनकर भागने लगे थे. आरोपियों ने पुलिस पर पत्थरों से हमला भी किया था, जिसके बाद पुलिस ने क्रॉस फायरिंग में आरोपियों को मार गिराया था। साथ 27 नवंबर की रात को चारों आरोपियों ने हैवानियत की थी।इसके बाद डॉक्टर दिशा की हत्या कर दी थी और शव को पेट्रोल छिड़ककर जला दिया था।  अगले दिन पुलिस ने दिशा का जला हुआ शव बरामद किया था।