Top

फांसी पर लटकना चाहता है निर्भया गैंगरेप का दोषी! राष्ट्रपति से की ये बड़ी मांग

निर्भया गैंगरेप के केस में दोषी विनय शर्मा ने अपनी दया याचिका वापस लेने की मांग की है। दोषी ने कहा है कि गृह मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपति को जो दया याचिका की फाइल भेजी गई है, उस पर उसके हस्तक्षार नहीं है और न ही उसकी ओर से ऑथोराइज्ड है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 7 Dec 2019 11:09 AM GMT

फांसी पर लटकना चाहता है निर्भया गैंगरेप का दोषी! राष्ट्रपति से की ये बड़ी मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप के केस में दोषी विनय शर्मा ने अपनी दया याचिका वापस लेने की मांग की है। दोषी ने कहा है कि गृह मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपति को जो दया याचिका की फाइल भेजी गई है, उस पर उसके हस्तक्षार नहीं है और न ही उसकी ओर से ऑथोराइज्ड है।

बता दें कि गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को निर्भया रेप केस के दोषी विनय शर्मा की दया याचिका की फाइल राष्ट्रपति के पास भेजी थी और दया याचिका को खारिज करने की भी सिफारिश की है।

यह भी पढ़ें...उन्नाव केस में बड़ा खुलासा, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आई चौंकाने वाली सच्चाई

इससे सबसे पहले दया याचिका खारिज करने की फाइल दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजी थी। इसके दो दिन बाद गृह मंत्रालय ने इसे राष्ट्रपति के पास भेज दिया। अधिकारियों ने बताया कि ये फाइल विचार करने और अंतिम निर्णय के लिए राष्ट्रपति को भेज दी गई है।

गृह मंत्रालय ने निर्भया गैंगरेप मामले में एक दोषी की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश करने वाली फाइल में टिप्पणी भी की है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को कहा था पॉक्सो एक्ट में सजा मिलने वाले को माफी नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा था कि ऐसे मामलों में दया याचिका का प्रावधान खत्म होना चाहिए।

यह भी पढ़ें...यूपी सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरा विपक्ष, अखिलेश-प्रियंका ने CM योगी का मांगा इस्तीफा

मौत की मिली है सजा

र्भया के दोषियों में शामिल विनय शर्मा छात्रा से रेप और उसकी हत्या को लेकर मौत की सजा का सामना कर रहा है। निर्भया गैंगरेप की घटना 16 दिसंबर 2012 को हुई थी। चोटों के चलते बाद में उसकी मौत हो गई थी। इस बर्बर घटना से पूरे देश में आक्रोश फैल गया था और बड़े स्तर पर विरोध प्रदर्शन हुए थे।

यह भी पढ़ें...हैदराबाद केस पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने ऐसी बात कह सभी को चौंका दिया

निर्भया मामला 16 दिसंबर 2012 का है और इस दिन चलती बस में एक लड़की का बर्बरता से रेप किया गया। गैंगरेप के बाद निर्भया 13 दिनों तक अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ी और आखिरकार 29 दिसंबर को उसने दम तोड़ दिया था। इस गैंगरेप की दुनियाभर में निंदा हुई थी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story