यूपी सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरा विपक्ष, अखिलेश-प्रियंका ने CM योगी का मांगा इस्तीफा

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद उत्तर में सियासत तेज हो गई है। विपक्ष ने एक साथ यूपी सरकार पर हमला बोला है। समाजवादी पार्टी, बसपा और कांग्रेस ने इस घटना के लिए यूपी की बीजेपी सरकार को दोषी बताया है।

लखनऊ: उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद उत्तर में सियासत तेज हो गई है। विपक्ष ने एक साथ यूपी सरकार पर हमला बोला है। समाजवादी पार्टी, बसपा और कांग्रेस ने इस घटना के लिए यूपी की बीजेपी सरकार को दोषी बताया है। उन्नाव रेप मामले पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को विधानसभा के सामने धरना दिया, तो वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की। इसके बाद बसपा प्रमुख मायावती ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुलाकात की है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि पीड़िता की मौत की जिम्मेदार योगी सरकार है। इसके साथ ही अखिलेश ने सीएम योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के राज में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ा है। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं।

यह भी पढ़ें…उन्नाव: रेप पीड़िता के परिवार से प्रियंका ने की मुलाकात, अखिलेश का धरना खत्म

अखिलेश ने उन्नाव रेप केस में सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि इसी विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराधियों को ठोक दिया जाएगा। यह भाषा थी लेकिन एक बेटी की जान नहीं बचा सके। सपा प्रमुख ने कहा कि जब तक उत्तर प्रदेश के सीएम, गृह सचिव और डीजीपी इस्तीफा नहीं देंगे, न्याय नहीं होगा। उन्नाव रेप केस को लेकर कल सभी जिलों में पार्टी की ओर से शोकसभा आयोजित की जाएगी।

अखिलेश ने कहा कि जिन पर आरोप हैं वे बीजेपी से जुड़े लोग हैं इसलिए न्याय नहीं मिला। आज के युग में इस तरह की घटनाएं होंगी क्या, किसी को जिंदा जला दिया जाएगा। अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उन्नाव की घटना बहुत दुखद है और इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। यह एक काला दिन है। वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई।

यह भी पढ़ें…हैवानियत से दहला यूपी! किसी की लूटी गई आबरू, तो किसी को जलाया जिंदा

उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई। बाराबंकी की बेटी ने भी इसी मुख्यमंत्री आवास के बाहर आग लगाई थी। वह बच नहीं पाई। एक ने पूरा परिवार खो दिया, जिस बेटी की जान आज गई उसकी दोषी बीजेपी सरकार है।’

प्रियंका गांधी का हमला

पीड़िता के परिजनों से मुलाकात के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार पर जमकर हमला बोला। प्रियंका गांधी ने कहा कि यूपी में अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं। पीड़िता के परिवार को पूरे एक साल से प्रताड़ित किया जा रहा था। आरोपियों ने लड़की के पिता को घर में घुसकर बुरी तरह पीटा। प्रियंका गांधी ने आरोप लगाया कि आरोपी का परिवार बीजेपी से जुड़ा हुआ है शायद इसलिए उन्हें बचाया जा रहा है। प्रियंका गांधी ने पीड़िता के परिवार से बंद कमरे में बातचीत की। बातचीत के बाद प्रियंका ने कहा कि परिवार ने आपबीती बताई है।

यह भी पढ़ें…उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने तोड़ा दम, जानिए किसने क्या बोला?

उन्होंने कहा कि पीड़िता के परिवार के साथ बहुत बुरा हुआ। पूरे परिवार को एक साल तक प्रताड़ित किया गया। आरोपियों ने लड़की के पिता को घर में घुसकर बुरी तरह पीटा और परिवार की महिलाओं को धमकाया। इस पर योगी सरकार की जवाबदेही तो बनती है। प्रशासन को बताना पड़ेगा कि ऐसा क्यों हो रहा है। छोटी सी 10 साल बच्ची को धमकाया है कि तुम्हारा स्कूल से नाम कटवा देंगे। जून में उनकी खेती जला दी गई। इस तरह से परिवार को परेशान किया जा रहा है।

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि आरोपी गांव के प्रधान का बेटा है। उन्होंने कहा कि कहा जा रहा है कि इनका परिवार बीजेपी से जुड़ा हुए है। हो सकता है कि इनकी रक्षा हो रही है, पहले भी ऐसा होता रहा है। अपराधी बचाए जाते रहे हैं।

यह भी पढ़ें…BSP सांसद पर दुष्कर्म का आरोप तय, पीड़िता को दी थी जान से मारने की धमकी

राज्यपाल से मिलीं मायावती

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुलाकात की और इस घटना को लेकर ज्ञापन सौंपा। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है। मयावती ने कहा, मुख्यमंत्री कहते हैं कि यहां अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन मुझे लगता है कि यंहा महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है। पिछले एक साल से पीड़िता के परिवार को परेशान किया जा रहा था। मैंने सुना है कि आरोपियों का बीजेपी के साथ कुछ कनेक्शन है इसलिए उन्हें बचाया जा रहा है। राज्य में अपराधियों के मन में किसी तरह का भय नहीं है।

मयावती ने कहा कि बीते कुछ वर्षों में विशेषतौर पर बीजेपी सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। ऐसा कोई दिन नहीं बीतता है जब महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले सामने न आते हों। अगर राज्य सरकार अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है तो ऐसी घटनाओं पर रोक नहीं लगेगी।

 

हर भारतीय को शर्मिंदा करती है यह मौत

इस मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्नाव की बेटी की दुखद मौत हर भारतीय को शर्मिंदा करती है। ईश्वर पीड़िता के परिवार को हौसला दे।पूरा देश इस लड़ाई में उनके साथ है। मैं उम्मीद करता हूँ यूपी सरकार हमारी बेटी के हत्यारों को सूली पर चढ़ाने की न्यायिक प्रक्रिया जल्द पूरी करेगी और समाज के लिए उदाहरण बनाएगी।