विदेशों से टेस्टिंग उपकरण मंगाने में सावधानी बरते केंद्र सरकार: मायावती

बसपा सुप्रीमों ने मंगलवार को ट्वीट करके कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि जैसा कि विदित है कि केंद्र में कांग्रेस के राज में हुए दिल्ली कामनवेल्थ गेम्स की तैयारी में खासकर विदेशों से मंगाये गये समान में भयंकर भ्रष्टाचार हुआ था।

विदेशों से टेस्टिंग उपकरण मंगाने में सावधानी बरते केंद्र सरकार: मायावती

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने केंद्र की मोदी सरकार से अपील की है कि कोरोना महामारी के दौर में विदेशों से टेस्टिंग किट या अन्य उपकरण मंगाते समय पूरी सावधानी बरते। बसपा सुप्रीमों ने कहा है कि कोरोना से चल रही लड़ाई में यह जरूरी है, जिससे देश किसी भी तरह से कमजोर न पड़े।

ये भी पढ़ें… डिफाल्टरों को तोहफा: नौकरीपेशा पर सितम, ये कैसा सरकार का करम

गरीब दलितों के कल्याण के लिए

बसपा सुप्रीमों ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि जैसा कि विदित है कि केंद्र में कांग्रेस के राज में हुए दिल्ली कामनवेल्थ गेम्स की तैयारी में खासकर विदेशों से मंगाये गये समान में भयंकर भ्रष्टाचार हुआ था। साथ ही गरीब दलितों के कल्याण के लिए स्पेशल कम्पोनेन्ट प्लान का भी पैसा डाइवर्ट करके इसी पर अनुचित तौर पर खर्च कर दिया गया था।

उन्होंने लिखा है कि इसको देखते हुए केंद्र की मौजूूदा भाजपा सरकार को भी उससे सबक सीखकर कोरोना बीमारी की विशेषकर जांच से जुड़ी टेस्टिंग उपकरणों आदि को विदेशों से मंगाते समय जरूर पूरी-पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।

ट्वीट करके कोरोना की लड़ाई के लिए सुझाव

ताकि कोरोना प्रकोप से लड़ाई किसी भी प्रकार से कमजोर न पड़े। उन्होंने इसे बसपा की मांग और अपील करार दिया है।
बताते चले कि बसपा सुप्रीमों कोरोना वायरस की रोकथाम को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए लॉकडाडन का लगातार समर्थन ही नहीं कर रही है बल्कि वह लगातार अपने टिवट्र हैंडल से में टिव्ट करके कोरोना की लड़ाई के लिए सुझाव भी दे रही है।

ये भी पढ़ें… यूपी से बड़ी खबर: मेरठ में मचा हड़कंप, एक और युवक मिला कोरोना पॉजिटिव

बीते सोमवार को भी मायावती ने कोरोना वायरस की टेस्टिंग व प्रवासी मजदूरों को लेकर अपनी चिंता जाहिर की थी। बसपा सुप्रीमों ने कहा था कि केंद्र व सभी राज्य सरकारें कोरोना वायरस की टेस्टिंग बढ़ाने के साथ-साथ खासकर लाचार लाखों गरीब मजदूर प्रवासियों को पेट भर खाना उपलब्ध कराये।

गोदामों का गल्ला आखिर किस दिन काम आयेगा

वरना भूख से तड़पते ये लोग कैसे अपनी इम्यूनिटी बढ़ाकर घातक कोरोना बीमारी से बच पायेंगे। उन्होंने सवाल किया था कि सरकार गोदामों का गल्ला आखिर किस दिन काम आयेगा।

वैसे तो बेहतर यही होगा कि सरकारें लाकडाउन से पीड़ित इन लाखों मजलूम व मजबूर लोगों की जल्दी से जल्दी उचित व्यवस्था करके इन्हे इनके घरों में सुरक्षित भिजवाये तथा इनको जीने के लिए फौरी तौर पर इनकी कुछ आर्थिक भी जरूर करे।

ये भी पढ़ें… बुलंदशहर हत्याकांड: साधुओं की हत्या को लेकर उद्धव ठाकरे ने CM योगी से की चर्चा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App