यहां 2 गुटों के बीच जमकर पत्थरबाजी, कई लोग घायल, FIR दर्ज

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में 2 गुटों के बीच हुई झड़प में 6 लोग घायल हो गए हैं। चेंबूर के मुकुंद नगर इलाके में यह झड़प हुई है। पुलिस का इस मामले में कहना है कि केस दर्ज कर लिया गया है। दोनों गुटों के बीच जमकर पत्थरबाजी की गई।

चेंबूर: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में 2 गुटों के बीच हुई झड़प में 6 लोग घायल हो गए हैं। चेंबूर के मुकुंद नगर इलाके में यह झड़प हुई है। पुलिस का इस मामले में कहना है कि केस दर्ज कर लिया गया है। दोनों गुटों के बीच जमकर पत्थरबाजी की गई।

इस घटना में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं। दावा किया जा रहा कि एक महिला समेत 6 लोग घायल हो गए हैं। लाठी-डंडों से लैस लोग एक दूसरे के ऊपर टूट पड़े। इस मामले की जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें…महाराष्ट्र मंत्रिमंडल विस्तार: भारतीय राजनीति व परिवारवाद

पुलिस ने स्थानीय लोगों से पूछताछ भी की है। मामले की जांच जारी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि मामूली बात को लेकर दो गुट आपस में भिड़ गए। भिड़ंत के बाद मामला गाली-गलौज तक पहुंचा, फिर दोनों ग्रुप एक-दूसरे से उलझ गए। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है।

कुछ ने हाथों में पत्थर लेकर एक दूसरे पर बरसाना शुरू कर दिया। पार्किंग विवाद को लेकर दो गुटों में ये झड़प हुआ। फिलहाल पुलिस कुछ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश कर रही है। पुलिस दोनों पक्षों से पूछताछ कर रही है।

ये भी पढ़ें…जम्मू कश्मीर के इस दिग्गज नेता पर लगा PSA, अब जायेंगे जेल

लोहरदगा शहर में  जुलूस पर पथराव

उधर सिटीजनशिप एमेंडमेंट एक्ट (सीएए) के समर्थन में गुरुवार को लोहरदगा शहर में निकले जुलूस पर पथराव के बाद दाे पक्षाें में भिड़ंत हाे गई। दाे घंटे तक शहर उपद्रवियाें के कब्जे में रहा।

उपद्रवी तत्वाें ने 18 दुकानाें काे आग के हवाले कर दिया। 80 बाइक, चार पिकअप वैन और एक ट्रक फूंक दिया। पुलिस के तीन वाहनाें में ताेड़फाेड़ की गई। पत्थरबाजी में दाेनाें ओर के 25 लाेग घायल हाे गए। घायलों में दीपक सर्राफ सहित तीन को रिम्स रेफर किया गया।

हिंसा पर उतारू भीड़ काे नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की। आंसू गैस छाेड़ी। पथराव में एसपी प्रियदर्शी आलाेक भी घायल हाे गए। उनकाे बचाने में दाे जवानाें काे भी चाेट लगी। बिगड़ते हालात काे देखते हुए एसपी ने खुद 100 राउंड से ज्यादा हवाई फायरिंग की।

भीड़ पर जवानाें ने  किया लाठीचार्ज

भीड़ पर जवानाें ने लाठीचार्ज किया। प्रशासन ने शांति व्यवस्था बहाल करने के लिए तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया है। पूरे शहर में धारा-144 लागू है। एसडीओ ज्योति झा ने माइक से पूरे शहर में कर्फ्यू लगाए जाने की सूचना दी।

तनाव काे देखते हुए शहर में सीआरपीएफ व जैप के जवान तैनात कर दिए गए हैं। डीआईजी एवी होमकर भी घटनास्थल पर पहुंच चुके थे। देर रात डीसी आकांक्षा रंजन, एसपी प्रियदर्शी आलोक और एसडीओ ज्योति झा ने माेर्चा संभाल रखा था।

हालात पर काबू के लिए 12 डीएसपी प्रतिनियुक्त

लोहरदगा में बिगड़े हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार की ओर से 12 डीएसपी को प्रतिनियुक्त किया गया है। देर रात से ही सबने मोर्चा संभाल लिया है। इधर, उपद्रव को देखते हुए रेलवे ने रात 8.50 बजे लोहरदगा से रांची आने वाली पैसेंजर ट्रेन को रद्द कर दिया। इससे 150 यात्री स्टेशन के पास फंसे रहे।

रैली निकालते ही किया पथराव

सुबह सीएए के समर्थन में स्थानीय लोग रैली में शामिल होने ललित नारायण मिश्र स्टेडियम में जुटे थे। वहीं दूसरी ओर सीएए के विरोध में दूसरे पक्ष के लोग सड़कों पर जुटे थे। जिसकी सूचना पर पुलिस व प्रशासन के वरीय अधिकारियों ने सड़कों पर जुटे लोगों को समझाने का कार्य किया था।

इसी बीच रैली मुख्य पथ होते हुए अमला टोली से आगे बढ़ी थी कि अचानक अमला टोली के निकट एक पक्ष द्वारा पथराव शुरू कर दिया गया जिसके बाद स्थिति तनावपूर्ण बन गई।

ये भी पढ़ें…महिलाओं पर लाठीचार्ज: पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को जबरन खदेड़ा, बिगड़ा माहौल