Top

नेपाल के कई इलाकों पर चीन ने किया कब्जा, भारतीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट

खुफिया एजेंसियों ने आशंका जताई है कि नेपाल में चीन तेजी से आगे और आगे बढ़ने में लगा हुआ है। चीन ज्यादा से ज्यादा नेपाली सीमाओं पर कब्जा करने में लगा है और बारूदी सुरंग का निर्माण कर रहा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 Oct 2020 4:10 PM GMT

नेपाल के कई इलाकों पर चीन ने किया कब्जा, भारतीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट
X
चीन ने नेपाल सीमा से सटे 7 जिलों के कई इलाकों पर अवैध कब्जा जमा लिया है। चीन की इस साजिश के बाद से भारतीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव चरम पर है। लद्दाख में मुंह की खाने के बाद चीन लगातार भारत के खिलाफ साजिश रच रहा है। अब चीन नेपाल के रास्ते भारत पर नजर रखने की चालें चल रहा है। इसके चलते चीन ने नेपाल सीमा से सटे 7 जिलों के कई इलाकों पर अवैध कब्जा जमा लिया है। चीन की इस साजिश के बाद से भारतीय खुफिया एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं।

खुफिया एजेंसियों ने आशंका जताई है कि नेपाल में चीन तेजी से आगे और आगे बढ़ने में लगा हुआ है। चीन ज्यादा से ज्यादा नेपाली सीमाओं पर कब्जा करने में लगा है और बारूदी सुरंग का निर्माण कर रहा है।

एक आंतरिक खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की ये हरकतें सीधे तौर पर नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) को बेहद नुकसानदायक साबित होंगी। चीन नेपाल में चीनी कम्युनिस्ट के विस्तारवादी एजेंडे को ढालने की कोशिश में लगा है।

ये भी पढ़ें...फारुख-मुफ्ती का सिर कलम: BJP विधायक का बड़ा बयान, अरब देश में होता ऐसा हाल

Nepal

चीन की साजिश को नेपाल कर रहा नजरअंदाज

रिपोर्ट में कहा गया है प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के सामने नेपाल की जमीन हथियाने की कोशिश हुई है, जिसे नजरअंदाज कर दिया गया था। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन नेपाल के जिन जिलों जमीन हड़प रहा है, उनमें दोलखा, गोरखा, दारचुला, हमला, सिंधुपालचौक, संखुवासभा और रसुवा शामिल हैं।

ये भी पढ़ें...महबूबा के बयान पर भाजपा का बड़ा हमला, सेक्युलर लॉबी की चुप्पी पर उठाए सवाल

चीन ने डोलखा में नेपाल की तरफ अंतरराष्ट्रीय सीमा 1,500 मीटर आगे बढ़ा दी है। डोलखा में कोरलंग क्षेत्र में नंबर 57, जो पहले कोरलंग के शीर्ष पर स्थित था। डोलखा के तरह चीन ने गोरखा जिले और सीमा स्तंभ संख्या 35 में सीमा स्तंभ संख्या 35, 37 और 38 को बदल दिया है।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान की दोस्त चीन और सऊदी अरब ने कर दी ऐसी हालत, कांपने लगे इमरान

इस रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

नेपाल के कृषि मंत्रालय की हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी। इसमें चीन के जमीन हड़पने के कई मामलों का खुलासा हुआ है। मंत्रालय की तरफ से चार नेपाली जिलों के तहत आने वाले कम से कम 11 स्थानों पर नेपाली की जमीन पर चीन के कब्जे के बारे में जानकारी दी। इन जिलों में व्याप्त अधिकांश क्षेत्र नदियों के जलग्रहण क्षेत्र हैं, जिनमें हमला, करनाली में भागदारे नदी के क्षेत्र शामिल हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story