×

चीन ने भारत को दिया धोखा, बॉर्डर पर तैनात किये 40 हजार सैनिक, युद्ध के बने हालात

सीमा विवाद को लेकर भारत से बातचीत करने के बाद चीन अपनी बातों से पलट गया है। उसने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी है। उसकी हरकतें सामान्य नहीं लग रही हैं।

Newstrack
Updated on: 22 July 2020 1:04 PM GMT
चीन ने भारत को दिया धोखा, बॉर्डर पर तैनात किये 40 हजार सैनिक, युद्ध के बने हालात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: सीमा विवाद को लेकर भारत से बातचीत करने के बाद चीन अपनी बातों से पलट गया है। उसने फिर से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां तेज कर दी है। उसकी हरकतें सामान्य नहीं लग रही हैं।

सूत्रों के मुताबिक उसने पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में भारी हथियारों के साथ अपने करीब 40 हजार सैनिकों को तैनात करना शुरू किया है। इन सैनिकों को एयर डिफेंस सिस्टम और लंबी रेंज वाले ऑर्टिलरी हथियार जैसे हथियारों से लैस किया गया है।'

इससे ये साफ हो रहा है कि चीन सीमा पर गतिरोध कम नहीं करना चाहता है। जिसके बाद से भारत भी चौकन्ना हो गया है। उसने अपनी सेना को अलर्ट कर दिया है। चीन की हर गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है।

भारत चीन विवादः कल हो सकता है बड़ा फैसला, होगी बड़ी बैठक

बातचीत की शर्तों को भी नहीं मान रहा चीन

प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत और चीन के बीच सैन्य और राजनयिक वार्ताओं में जिन शर्तों पर सैनिकों को कम करने की सहमति बनी थी, चीन उनका भी पालन नहीं कर रहा है।

सूत्रों ने कहा कि दोनों देशों के बीच पिछली सैन्य वार्ता के बाद से सैनिकों को कम करने की प्रक्रिया में भी कोई विकास नहीं हुआ है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वह फिंगर क्षेत्र में एक ऑब्जर्वेशन पोस्ट (निगरानी पोस्ट) तैयार करना चाहता है।

इसके साथ ही उन्होंने हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा पोस्ट एरिया में भी बड़े स्तर पर निर्माण किया है। ये दोनों क्षेत्र पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच होने वाले गतिरोध के प्रमुख क्षेत्र हैं।

भारत चीन विवाद: तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत, विदेशी मीडिया ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

फिंगर 5 एरिया से पीछे हटने को राजी नहीं चीन

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि चीनी पक्ष फिंगर 5 एरिया में भी पीछे हटने को और सिरीजाप में अपनी स्थायी जगह से पीछे हटने को भी राजी नहीं है।

बता दें कि चीन सीमा पर सैनिकों की संख्या घटाने के लिए तब राजी हुआ था जब भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीनी विदेश मंत्री से बात की थी।

उसने दिखावे के लिए कुछ स्थानों से अपने सैनिकों को कम करना भी शुरू कर दिया था। लेकिन फिर आज दोनों देश आकर वही पर खड़े हो गये हैं। जैसा दो महीने सीमा पर पहले हालात थे।

अमेरिका का बहुत बड़ा खुलासा, भारत के खिलाफ चीन ने रची थी ये खतरनाक साजिश

Newstrack

Newstrack

Next Story