×

भारत चीन विवाद: तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत, विदेशी मीडिया ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प की खबर भारतीय मीडिया ही नहीं बल्कि विश्व मीडिया में भी सुर्खियां बन गई है।

Dharmendra kumar
Published on: 16 Jun 2020 3:37 PM GMT
भारत चीन विवाद: तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत, विदेशी मीडिया ने दी ऐसी प्रतिक्रिया
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प की खबर भारतीय मीडिया ही नहीं बल्कि विश्व मीडिया में भी सुर्खियां बन गई है। विदेशी मीडिया ने दुनिया के इन दो ताकतवर देशों के बीच हुई झड़प को लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दी हैं। ब्रिटिश अखबार की वेबसाइट एक्सप्रेस डॉट यूके ने इसे तीसरे विश्व युद्ध की शुरुआत माना है। न्यूयॉर्क टाइम्स का कहना है कि यह दुनिया के दो सर्वाधिक आबादी वाले देशों के बीच बढ़ते तनाव का संकेत है। बीबीसी ने इसे दो परमाणु शक्तियों के बीच टकराव बढ़ने की नजर से देखा है।

पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के सैन्य अफसर समेत तीन सैन्य कर्मी शहीद हो गए जबकि चीन के भी कई सैनिकों के मारे जाने की खबर है। चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने चीनी सैनिकों के मारे जाने की पुष्टि की है। वैसे चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से चीन के सैनिकों के मारे जाने के बारे में कोई बयान नहीं जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें...चीन सीमा पर सैनिकों की शहादत, राहुल गांधी ने दिया ये बयान

एक्सप्रेस डॉट यूके: तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत

ब्रिटिश अखबार की वेबसाइट एक्सप्रेस डॉट यूके भारत और चीन के बीच बढ़ते टकराव को तीसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत माना है। वेबसाइट की खबर के मुताबिक लद्दाख की गलवान घाटी में हुई इस झड़प में भारतीय सेना के एक अधिकारी समेत तीन सैन्य कर्मी शहीद हुए जबकि जवाबी कार्रवाई में पांच चीनी सैनिक भी मारे गए। वेबसाइट का कहना है कि दो परमाणु शक्ति संपन्न पड़ोसियों के बीच दशकों में पहली बार ऐसी घटना हुई है। अमेरिकी सेना के रिटायर्ड कर्नल लॉरेंस सेलिन रिट्वीट के हवाले से कहा गया है कि चीन को भारत के साथ खिलवाड़ बंद कर देना चाहिए।

इजरायल टाइम्स: तनाव बढ़ने के बाद संघर्ष

इजरायल के प्रमुख समाचार पत्र इजरायली टाइम्स अपनी वेबसाइट में तीन हफ्ते में बढ़े तनाव के बाद तीन भारतीय सैनिकों के शहीद होने की बात कही है। वेबसाइट के मुताबिक भारतीय सेना की ओर से चीनी सैनिकों के भी हताहत होने की बात कहीं गई है जबकि चीन ने किसी की मौत या किसी के घायल होने का जिक्र नहीं किया है। इजरायल टाइम्स के मुताबिक दोनों देशों के बीच की साढ़े तीन हजार किलोमीटर लंबी सीमा पर काफी दिनों से विवाद रहा है मगर इस घटना में दशकों से कोई मारा नहीं गया था। दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के कारण ऐसी घटना हुई है।

यह भी पढ़ें...ताइवान ने चीन को दिया करारा जवाब, सीमा में घुसे विमानों को खदेड़ा

न्यूयॉर्क टाइम्स: चीन दिखा रहा दबंगई

अमेरिका के सबसे बड़े अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की वेबसाइट में कहा गया है कि चीनी सैनिकों के पथराव में भारत के तीन सैनिक मारे गए हैं। हिमालय क्षेत्र में विवादित सीमा पर हुई हिंसक झड़प के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाले दो देशों के बीच तनाव में इजाफा हुआ है। वेबसाइट के मुताबिक पथराव में दोनों देशों के जवान हताहत हुए हैं। विश्लेषकों के हवाले से कहा गया है कि चीन दबंगई दिखाकर अपने क्षेत्र का विस्तार करने की कोशिश में लगा हुआ है। वियतनाम, ताइवान, हांगकांग आदि मामले चीन की इस दबंगई के उदाहरण हैं।

बीबीसी: बढ़ते तनाव के बीच टकराव

ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (बीबीसी) का कहना है कि हाल के दिनों में सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच भारत और चीन के बीच टकराव की घटना सामने आई है। हालांकि दोनों पक्षों की ओर से फायरिंग नहीं की गई है मगर मीडिया रिपोर्ट में पीट-पीटकर मारे जाने की बात कही गई है। बीबीसी के मुताबिक दो परमाणु शक्तियों के बीच टकराव लगातार बढ़ रहा है। सीमा पर हुई इस नई घटना के कारण भारत में चीन विरोधी भावनाओं की नई लहर पैदा हो सकती है।

यह भी पढ़ें...सेना में हिंसक झड़प: शहीद हो गए हमारे जांबाज जवान, शोक में देश

अलजजीरा: दोनों देशों की ओर से तैयारियां

अलजजीरा की वेबसाइट पर भी भारत और चीन के बीच हुए इस हिंसक टकराव का प्रमुखता से जिक्र किया गया है। वेबसाइट का कहना है कि परमाणु हथियारों से लैस दोनों पड़ोसियों ने सीमा पर बख्तरबंद टैंक और तोपों सहित हजारों सैनिक तैनात कर रखे हैं। मई में शुरू हुई इस कार्रवाई से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है। वेबसाइट का कहना है कि भारत और चीन दोनों एक दूसरे पर दोषारोपण करने की कोशिश में लगे हुए हैं। भारतीय अधिकारियों का पक्ष है कि चीनी सैनिकों ने तीन अलग-अलग बिंदुओं पर सीमा पार करने के साथ ही चेतावनी को भी अनदेखा किया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story