China बर्बाद हुआ: ऐपल ने दिया जोरदार झटका, भारत में नौ यूनिट होगी स्थापित

आने वाले दिनों में तकनीक अपनाने का यह सिलसिला जारी रहेगा। उन्होंने कहा, ‘चुनौतियों में लोग अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। शायद यह भारत के टेक पेशेवरों के लिए प्रासंगिक है।

Published by SK Gautam Published: November 20, 2020 | 6:01 pm
Apple's nine units shift to India

China बर्बाद हुआ: ऐपल ने दिया जोरदार झटका, भारत में नौ यूनिट होगी स्थापित-(courtesy-social media)

बेंगलूरु: कोरोना को सारी दुनिया में फैलाने वाले चीन को अब एक के बाद एक विदेशी कम्पनियां अपना निवेश वापस खींच रही हैं। भारत के केंद्रीय आईटी और कम्युनिकेशन मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने बताया कि अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनी ऐपल (Apple) बड़े पैमाने पर भारत में निवेश कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में ऐपल की नौ ऑपरेटिंग यूनिट चीन से भारत शिफ्ट कर चुकी हैं। इनमें कंपोनेंट बनाने वाली यूनिट्स भी शामिल हैं। प्रसाद ने बेंगलूरु टेक समिट के 23वें एडिशन को वर्चुअली संबोधित करते हुए यह बात कही।

मैन्युफैक्चरिंग वर्ल्ड को वैकल्पिक डेस्टिनेशंस की तलाश

उन्होंने कहा कि मैन्युफैक्चरिंग वर्ल्ड वैकल्पिक डेस्टिनेशंस की तलाश कर रहा है। उन्होंने कहा, मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में तेजी लाने के प्रयासों में शानदार सफलता को देखते हुए हम प्रोडक्शन लिंक्ड इनसेंटिव (पीएलआई) का बड़ा आइडिया लेकर आए। ‘केंद्रीय मंत्री ने इससे पहले दावा किया था कि सैमसंग, फॉक्सकॉन, राइजिंग स्टार, विस्ट्रॉन और पेगाट्रॉन पीएलआई स्कीम के तहत एप्लिकेशन फाइल कर रहे हैं।

ravi shankar parasad

चुनौतियों में लोग अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं- मोदी

समिट का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने तकनीक की ताकत को दिखाया है और भारतीयों ने आसानी के साथ इसे अपनाया है। लॉकडाउन और यात्रा पर पाबंदियों के कारण ने लोगों को कार्यक्षेत्र से दूर रखा लेकिन तकनीक ने घर से काम को आसान बनाया।

Apple's nine units shift to India-3

ये भी देखें: 4 बजे होंगे लखपति: लॉटरी के परिणाम की हुई घोषणा, मिलेंगे लाखों रुपये 

आने वाले दिनों में तकनीक अपनाने का यह सिलसिला जारी रहेगा। उन्होंने कहा, ‘चुनौतियों में लोग अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। शायद यह भारत के टेक पेशेवरों के लिए प्रासंगिक है। जब कस्टमर की मांग होती है या कोई डेडलाइन होती है तो आपने नोटिस किया होगा कि सर्वश्रेष्ठ समाधान निकलता है।’

Apple's nine units shift to India-2

विदेशी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों को लुभाने के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम

उल्लेखनीय है कि सरकार ने विदेशी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों को लुभाने के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (PLI) लॉन्च की थी। इस योजना के तहत अभी तक कई विदेशी कंपनियों ने भारत में आकर मोबाइल प्रोडक्शन और पार्ट्स के उत्पादन करने के लिए आवेदन किया है। सरकार ने हाल में इस योजना का दायरा बढ़ाकर 10 नए सेक्टरों को इसमें शामिल किया है।

ये भी देखें: चौथी पत्नी की तलाश: पाकिस्तान में पत्नियां खोजने वाला शख्स, ये है पूरा माजरा 

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App