भारत का पहला प्लाज्मा बैंक: यहां शुरू, कोविड 19 से जंग में ऐसे आएगा काम

दिल्ली में कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश के पहले प्लाज्मा बैंक ILBS हॉस्पिटल को शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसका उद्घाटन किया।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज में एक कारगर उपाय प्लाज्मा थेरेपी भी है। इसे लेकर अब देश का पहला प्लाज्मा बैंक भी शुरू हो गया है। राजधानी दिल्ली में प्लाज्मा बैंक की शुरुआत हुई। इस बैंक के खुलने के बाद अब कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में तेजी आएगी। बता दें कि कोरोना संकट के बीच प्लाज्मा थेरेपी संक्रमित मरीजों के इलाज में काफी बेहतर साबित हो रही है।

सीएम केजरीवाल ने किया प्लाज्मा बैंक ILBS हॉस्पिटल का उद्घाटन

भारत की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश के पहले प्लाज्मा बैंक ILBS हॉस्पिटल को गुरूवार से शुरू किया गया है। इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया। वहीं इसे लेकर आम आदमी पार्टी के नेता और विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि दिल्ली में शुरू हुआ ये प्लाज्मा बैंक हजारों लाखों लोगों की जिंदिगी बचा सकता है।

कोरोना संकट में प्लाज्मा बैंक की जरूरत:

दरअसल प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना के मरीजों का इलाज तो एक अच्छा जरिया है लेकिन अभी तक इलाज के लिए प्लाज्मा मिलने में काफी दिक्कतें आ रही थीं। हालंकि अब प्लाज्मा बैंक के जरिये मरीजों को आसानी से प्लाज्मा मिल सकेगा। कोरोना से ठीक हो चुके लोग यहां अपना प्लाज्मा दान कर सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः भारत महाशक्तिशाली हुआ: मजबूत हुई देश की वायुसेना, अब कांपेंगे दुश्मन देश

ऐसे करें प्लाज्मा को डोनेट

किसी कोरोना संक्रमित को बचाने के लिए कोई भी कोविड 19 का मरीज जो अब ठीक हो चुका है अपना प्लाज्मा दान कर सकता है।
इसके लिए 1031 पर कॉल करें या 88-000-07722 पर Whatsapp करें। डॉक्टर आपसे बात करके एलिजिबिलिटी के हिसाब से सलाह और जानकारी देंगे।

प्लाज्मा डोनेट करने पर मिलेगा गौरव पत्र

वहीं प्लाज्मा दान करने को लेकर रजिस्ट्रेशन होने के बाद दिल्ली सरकार की तरफ से आपको कॉल आएगा। प्लाज्मा डोनेट करने के लिए समय तय किया जाएगा। वहीं आपकी सुविधा के लिए घर सरकार की गाड़ी आपके घर तक आएगी। प्लाज्मा डोनेट करने पर सरकार की ओर से आपको गौरव पत्र दिया जाएगा, जो ये बताएगा कि आपने समाज के लिए अच्छा काम किया है।

ये भी पढ़ेंः बड़ा फैसला: इस दिन से खुल जाएंगे सभी स्मारक, संस्कृति मंत्री ने किया एलान

ये स्वस्थ हुए कोरोना संक्रमित दे सकते है प्लाज्मा

कोरोना संक्रमण से ठीक हुए 18 से 60 साल की उम्र के लोग जिन्हे 14 दिन हो गए हैं, प्लाज्मा दे सकते हैं। प्लाज्मा दान करने के लिए उनका वजन 50 किलो से ज्यादा होना चाहिए।

संक्रमण से स्वस्थ हुए ये मरीज नहीं दे सकते प्लाज्मा

इसके अलावा ऐसी महिलाएं जो कभी भी एक बार प्रेग्नेंट हो चुकी हैं, प्लाज्मा दान नहीं कर सकतीं। वहीं डायबटीज के मरीज, हाइपरटेंशन की बीमारी है या बीपी 140 से ज्यादा के मरीज प्लाज्मा नहीं दे सकते। कैंसर सर्वाइवर प्लाज्मा डोनेट नहीं कर सकते। किडनी, हार्ट की बीमारी से ग्रस्त लोग प्लाज्मा नहीं दे सकते।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।