Top

कांग्रेस ने PM मोदी पर बोला हमला, कहा- BJP स्पष्ट करे, एमरजेंसी क्या होती है

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इस रिपोर्ट की स्ट्रैटेजी एक ही है और जो आशय भी उन्होंने इस रिपोर्ट में डाला है वह भी बहुत क्लियर है। जिसमें यह संदेश दिया जा रहा है कि इस देश में फ्री स्पीच को, अभिव्यक्ति की आजादी को कैसे कंट्रोल किया जाए, उनका दमन किया जाए।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 4 March 2021 6:09 PM GMT

कांग्रेस ने PM मोदी पर बोला हमला, कहा- BJP स्पष्ट करे, एमरजेंसी क्या होती है
X
सुप्रिया श्रीनेत ने आरोप लगाया कि वैश्विक महामारी के दौरान जनता की आवाज दबाने और मीडिया को ब्लैकमेल करने की साजिश रची गई।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गुरुवार को तीखा हमला बोला। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने आरोप लगाया कि वैश्विक महामारी के दौरान जनता की आवाज दबाने और मीडिया को ब्लैकमेल करने की साजिश रची गई। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकारी संचार रिपोर्ट के सार्वजनिक होने से इस बड़ी साज़िश का खुलासा हुआ है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने कोरोना कार्यकाल में एक रिपोर्ट तैयार की, नहीं जीवन या जीवनयापन बचाने के लिए नहीं। अपने ख़िलाफ़ उठने वाले सवालों को दबाने के उद्देश्य से। हम दो हमारे दो की यह सरकार अपने क्रियाकलापों और पाप पर पर्दा डालने को मजबूर है।



क्या पत्रकारों का इस्तेमाल किया गया?

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि इस रिपोर्ट की स्ट्रैटेजी एक ही है और जो आशय भी उन्होंने इस रिपोर्ट में डाला है वह भी बहुत क्लियर है। जिसमें यह संदेश दिया जा रहा है कि इस देश में फ्री स्पीच को, अभिव्यक्ति की आजादी को कैसे कंट्रोल किया जाए, उनका दमन किया जाए। बड़े दु:ख की बात है कि कुछ हमारे पत्रकार साथियों का नाम भी इस रिपोर्ट में आया है। इसलिए मैं पूरी ईमानदारी से पूछना चाहती हूं कि क्या पत्रकारों का इस्तेमाल किया गया?



ये भी पढ़ें...दिग्गज नेताओं के ठुमकेः फारूक अब्दुल्ला संग सीएम अमरिंदर का डांस, वीडियो वायरल

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि परेशान करने वाली बात यह भी है कि ये जो ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स के सुझाव हैं उन पर ऑलरेडी कानून बन चुका है। हमें लगता था कि कानून सदन में चर्चा और विचार विमर्श करके बनते हैं, लेकिन दमन की नीति अपनाकर कानून बनाना यह इतिहास में पहली बार देखा जा रहा है।

उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी जी जवाब दीजिए कि 50 नेगेटिव इनफ्लुएंसर्स को ट्रैक तो आप करा रही हैं, उनके साथ आप क्या सलूक कर रही हैं? किस तरह से उनके खिलाफ एजेंसिज का इस्तेमाल करवाएंगी या कर रही हैं?



ये भी पढ़ें...नई संसद में सुरंगः रास्ता जाएगा पीएम आवास तक, VIP सुरक्षा-आवागमन होगा सुगम

भाजपा स्पष्ट करे- एमरजेंसी क्या होती है

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि एमरजेंसी ये होती है कि अगर किसान के साथ कोई खड़ा हो तो उस पर देशद्रोह का चार्ज लगा दिया जाये। जनता द्वारा चुनी हुई सरकारों को गिराना एमरजेंसी होती है। भाजपा स्पष्ट करे- एमरजेंसी क्या होती है।

उन्होंने कहा कि भाजपा का संदेश स्पष्ट है कि अगर आप हमारे खिलाफ बात करेंगे तो हम आपके खिलाफ अपने फ्रंटल्स को छोड़ेंगे। बीजेपी से निवेदन है कि सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्स जैसी संस्थाओं को बंद कर बीजेपी में मर्ज कर दीजिये।



ये भी पढ़ें...घातक कोरोना पर आदेशः किसी भी दिन और समय लगेगी वैक्सीन, हुआ बड़ा एलान

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकारी संचार रिपोर्ट के सार्वजनिक होने से इस बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है। इस समूह में पांच कैबिनेट मंत्री (स्मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावेड़कर, जयशंकर, मुख़्तार अब्बास नकवी) और चार राज्यमंत्री (हरदीप पुरी, किरण रिजिजु, अनुराग ठाकुर, बाबुल सुप्रियो) शामिल थे। इस समूह का एकमात्र लक्ष्य सरकार और उसकी नीतियों पर सवाल पूछने वालों का दमन करना था।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story