×

चिदंबरम पर खुलासा! खतरनाक जेल से बचने के मांगी CBI रिमांड

चिदंबरम की गिरफ्तारी को लेकर सियासी बाजार भी गर्म हो गया है कि क्या चिदंबरम कानूनी दांव और सीबीआई के पेंच में फंस जाएंगे? या शाम तक तिहाड़ पहुंच जायेंगे। वहीं घबराए हुए चिदंबरम के दिग्गज वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में पेशकश किया था कि चिदंबरम को सीबीआई हिरासत में ही रखा जाये, लेकिन उन सभी के हाथ खाली रहे।

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 30 Aug 2019 5:35 AM GMT

चिदंबरम पर खुलासा! खतरनाक जेल से बचने के मांगी CBI रिमांड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली. INX. MEDIA CASE में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें कम होती नहीं दिखाई दे रही है। बता दें कि इन दिनों सीबीआई की हिरासत में हैं। आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार चिदंबरम की सीबीआई हिरासत आज खत्म हो रही है। उन्हें दोपहर 2 बजे के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया जाएगा।

चिदंबरम की गिरफ्तारी को लेकर सियासी बाजार भी गर्म हो गया है कि क्या चिदंबरम कानूनी दांव और सीबीआई के पेंच में फंस जाएंगे? या शाम तक तिहाड़ पहुंच जायेंगे। वहीं घबराए हुए चिदंबरम के दिग्गज वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में पेशकश किया था कि चिदंबरम को सीबीआई हिरासत में ही रखा जाये, लेकिन उन सभी के हाथ खाली रहे।

वकीलों का हर संभव प्रयास...

चिदंबरम के पास बड़े वकीलों की फौज है। जिनका पूरा प्रयास रहेगा कि चिदंबरम को सीबीआई और ईडी के मुकदमों और जेल जाने के जंजाल से निकाला जाये।

सुप्रीम कोर्ट में चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल चिदंबरम को स्पेशल कोर्ट की हिरासत में रखने का पुरजोर विरोध कर रहे थे। अब वहीं सुप्रीम कोर्ट के आगे दलील दी है कि सोमवार तक उनको सीबीआई की हिरासत में ही रहने दिया जाए और वे इसके लिए पूर्णत: तैयार हैं।

बता दें कि सीबीआई ने स्पेशल कोर्ट में जब और पांच दिन की हिरासत मांगी तो सिब्बल और सिंघवी काफी नाखुस दिखे थे। उन्होंने लगातार गुहार लगाई कि 'माइ लॉर्ड कोई जरूरत नहीं है अब हिरासत की।

यह भी पढ़ें: चिदंबरम हार्ड या CBI! आज दोपहर होगा कोर्ट में इनका फैसला

बड़ा प्रश्न खड़ा हो रहा कि तीन दिन बाद ही ऐसा क्या हो गया कि सिब्बल जोर दे रहे हैं कि हुजूर सीबीआई की हिरासत में ही चार दिन और रहने दिया जाए. हम इसके लिए भी राजी हैं. हालांकि इस अप्रत्याशित दलील और अपील पर सीबीआई और ईडी के वकील सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को खुश होना चाहिए था. लेकिन वो तो फौरन इसके खिलाफ तन गए।

तिहाड़ जेल...

सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को सीबीआई चिदंबरम की हिरासत और बढ़ाने पर जोर नहीं डालेगी। जिससे नतीजा ये होगा कि चिदंबरम को न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजना होगा।

यह भी पढ़ें: भारत-पाक की बैठक: देखते हैं क्या निष्कर्ष निकलता है करतारपुर कॉरिडोर को लेकर

5 सितंबर को सीबीआई सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद तय करेगी कि इंद्राणी मुखर्जी और अन्य 'गवाहों' से चिदंबरम का आमना-सामना कराने के नाम पर फिर हिरासत की मांग की जाये या नहीं। इसी दौरान ईडी के दांव भी सुप्रीम कोर्ट के रूख पर निर्भर करेंगे. क्योंकि पांच तारीख तक तो सुप्रीम कोर्ट ने ईडी को रोक रखा है।

गौरतलब है कि INX. MEDIA CASE में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें कम होती नहीं दिखाई दे रही है। बता दें कि इन दिनों सीबीआई की हिरासत में हैं। आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार चिदंबरम की सीबीआई हिरासत आज खत्म हो रही है। उन्हें दोपहर 2 बजे के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story