मनमोहन के जन्मदिन पर राहुल ने मोदी से उनकी तुलना क्यों कर डाली

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह को जन्मदिन की बधाई देने के मौके पर भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार को नहीं बक्शा। डॉ मनमोहन सिंह की बतौर प्रधानमंत्री विभिन्न विषयों की गहरी समझ की सराहना करते हुए

manmohan-singh-rahul-gandhi

मनमोहन के जन्मदिन पर राहुल ने मोदी से उनकी तुलना क्यों कर डाली (social media)

लखनऊ: पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह को जन्मदिन की बधाई देने के मौके पर भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार को नहीं बक्शा। डॉ मनमोहन सिंह की बतौर प्रधानमंत्री विभिन्न विषयों की गहरी समझ की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि आज का भारत उनकी कमी को शिद्दत से महसूस कर रहा है।

ये भी पढ़ें:NCB से हिला बॉलीवुड: पूछताछ में सारा ने मांगा कुछ वक़्त, रकुल ने खोले कई राज

कांग्रेस नेता राहुल गांधी देश की राजनीति में अकेले नेता बन गए हैं

कांग्रेस नेता राहुल गांधी देश की राजनीति में अकेले नेता बन गए हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कटु आलोचक हैं और पिछले कई सालों के दौरान उन्होंने ऐसा कोई मौका नहीं छोड़ा है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज को लेकर सवाल न खड़े किए हों। शनिवार को यूं तो पूर्व प्रधानमंत्री और मिस्टर साइलेंस कहे जाने वाले डॉ मनमोहन सिंह का जन्मदिन है।

उन्होंने अपने जीवन के 88 सुखद वर्ष पूरे किए हैं। इस मौके पर राहुल ने उन्हें अगले खूबसूरत और प्रिय जीवन वर्ष की बधाई दी है लेकिन इस मौके पर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने में वह नहीं चूके। अपने बधाई संदेश की शुरुआत ही उन्होंने भारत के लोगों को मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की कमी अखरने का जिक्र करने के साथ की। उन्होंने कहा कि आज देश के लोग डॉ मनमोहन सिंह की प्रधानमंत्री के तौर पर कमी का अहसास कर रहे हैं। देश को लेकर उनकी गहरी समझ, ईमानदारी, शालीनता और समर्पण की लोग कद्र करते हैं और इससे हम सभी को प्रेरणा मिलती है।

manmohan-singh-rahul-gandhi
manmohan-singh-rahul-gandhi (social media)

प्रधानमंत्री के तौर पर डॉ मनमोहन सिंह ने क्या खास किया

राहुल गांधी ने डॉ मनमोहन सिंह की बतौर प्रधानमंत्री रहते हुए देश को लेकर गहरी समझ का जिक्र किया है। कांग्रेस मीडिया सलाहकार समिति के सुरेंद्र राजपूत भी राहुल की बात का समर्थन करते हैं और बताते हैं कि देश को आर्थिक आजादी देने का काम किया मनमोहन सिंह ने किया। जब देश में आर्थिक संकट की स्थितियां बनी तो उन्होंने संकटमोचक की भूमिका में काम कर देश के नागरिकों को खुशहाल जीवन जीने का मौका दिलाया। 2008 की वैश्विक मंदी का असर भारत पर बिल्कुल नहीं पड़ने दिया। तब न कंपनियां डूबीं और न व्यापारी वर्ग तबाह हुआ। आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। किसान का भविष्य अंधेरे में है और वह सड़क पर उतरकर संघर्ष कर रहा है। उसकी खेती पर खतरा मंडरा रहा है।

ये भी पढ़ें:अब मथुरा की बारीः राम मुक्त, अब कृष्ण की मांग, मांगा 13.7 एकड़ जमीन पर कब्जा

प्रधानमंत्री रहते हुए मनमोहन सिंह ने देश को सूचना का अधिकार दिलाया इससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा लेकिन इस कानून को मोदी सरकार ने नख-दंत हीन कर दिया। शिक्षा अधिकार से सभी को शिक्षित होकर आगे बढ़ाने का अवसर दिया आज निजी शिक्षा संस्थानों और महंगी फीस से हर शख्स परेशान है। भोजन का अधिकार के तहत सभी को सस्ता राशन मुहैया कराया और मनरेगा के जरिये गांव में बैठे आदमी को भी रोजगार दिलाया। आज की मोदी सरकार के मुकाबले मनमोहन सिंह की सरकार में लोग ज्यादा खुशहाल थे। इसलिए उनकी याद आना स्वाभाविक है।

अखिलेश तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App