कोरोना संक्रमित डॉक्टर करता रहा मरीजों का इलाज, सच आया सामने तो मचा हड़कंप

कोरोना के खिलाफ पूरी दुनिया में जंग जारी है। लेकिन इस बीच एक अस्पताल में बड़ी चूक भी देखने को मिली है। डॉक्टर की एक गलती पूरे हॉस्पिटल को भुगतनी पड़ी।

नई दिल्ली:  कोरोना के खिलाफ पूरी दुनिया में जंग जारी है। सभी देश कोरोना को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। बाजार, मॉल्स, स्कूल-कॉलेज, सब बंद किए गए हैं। लेकिन इस बीच एक अस्पताल में बड़ी चूक भी देखने को मिली है। डॉक्टर की गलती से पूरे हॉस्पिटल को क्वारंटाइन करना पड़ा। ये डॉक्टर स्पेन से वापस आया था। उसे हल्का बुखार था। लेकिन ना तो डॉक्टर ने खुद जांच कराना सही समझा और ना ही अस्पताल ने। इस बीच वो डॉक्टर ओपीडी में मरीजों को भी देखता रहा।

संदिग्ध होने के बाद भी करता रहा इलाज

डॉक्टर अस्पताल में अपने स्टॉफ से भी मिलता रहा और लोगों का इलाज करता रहा। लेकिन उस डॉक्टर के अंदर कोरोना वायरस था। फिर धीरे-धीरे असर दिखा जांच की गई तो वह डॉक्टर पॉजिटिव पाया गया। नतीजन एक डॉक्टर की गलती की वजह से पूरा अस्पताल कोरोना संदिग्ध हो गया है। इस मरीज की जांच हल्के लक्ष्ण में ही हो जाती तो दूसरे लोगों को भी इस बीमारी से बचाया जा सकता था।

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट की सरकार को फटकार, कहा- उमर अब्दुल्ला को जल्द करें रिहा, वरना…

दूसरी ओर कोरोना से बचने के लिए सरकार कई स्तर पर कोशिश कर रही है। भारत सरकार ने तो 10 लोगों से ज्यादा को एक स्थान पर जुटने पर रोक लगा रखी है। सूबे की सरकारों ने भी महामारी घोषित कर स्कूल-कालेज, आंगनबाड़ी केंद्र और अन्य प्रतिष्ठानों में 31 मार्च तक बंद करने के आदेश दिए हैं।

2 से 5 मार्च के बीच दिखे लक्षण

अस्पताल प्रशासन के सामने एक बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है। उस डॉक्टर ने ओपीडी में जिन मरीजों को देखा उसे कैसे ट्रेस किया जाए। उन मरीजों को खोजना और क्वारंटरइन करना बेहद मुश्किल हो गया है।

ये भी पढ़ें-  ईरानी लोग नहीं माने तो कोरोना से होंगी 35 लाख मौतें

 

उस डॉक्टर के अंदर 2 से 5 मार्च के बीच हल्के लक्षण थे। लेकिन 8 मार्च उस गले में दिक्कत होने लगी। फिर डॉक्टर ने 9 मार्च को विदेश दौरे की जानकारी राज्य सरकार को दी। फिर उसे तुरंत होम क्वारंटाइन रहने को कहा गया।
इस महामारी से बचने के लिए सरकार ने कई गाइडलाइन भी बना रखीं हैं।

देश में अब तक 149 मामले

देश में कोरोना से पीड़ितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। सुबह से अब तक कोरोना के 10 नए मामले सामने आए हैं। देश में कोरोना के कुल केस की तादाद बढ़कर 149 पहुंच गई है। सबसे ज्यादा 42 मामले महाराष्ट्र के हैं। केरल में 27 केस हैं जबकि यूपी और हरियाणा में 16-16 केस सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें-  Yes Bank के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, कर दिया ये बड़ा ऐलान

कोरोना की वजह से यूपी में बोर्ड परीक्षा की कॉपियां जांचने का काम दो अप्रैल तक रोक दिया गया है। अब तीन अप्रैल से कॉपियां जांची जाएंगी। इसका मतलब है रिजल्ट में देरी हो सकती है। इसके अलावा सेना ने 20 मार्च से शुरू होने वाली एसएसबी की सभी परीक्षाएं भी स्थगित कर दी हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App