पुरूषों में बढ़ता खतरा: सामने आई ये चौकानें वाली रिपोर्ट, 18-35 वालों ने तोड़ा रिकार्ड

देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण का आकड़ा लगभग 8 लाख के पार पहुंच गया है। बीते 24 घंटों में देश में सबसे ज्यादा नए मामले सामने आएं हैं। 24 घंटे में नए संक्रमित नए मरीजों की संख्या 26506 है।

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण का आकड़ा लगभग 8 लाख के पार पहुंच गया है। बीते 24 घंटों में देश में सबसे ज्यादा नए मामले सामने आएं हैं। 24 घंटे में नए संक्रमित नए मरीजों की संख्या 26506 है। देश में कुल आकंड़ों की बात करें तो अब तक 793,802 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से मरने वालों का आकंड़ा 21604 है। ऐसे में ध्यान करने वाली बात ये है कि कोरोना संक्रमण का खतरा महिलाओं में पुरूषों के मुकाबले काफी कम है। सामने आए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में अभी तक महिलाएं 34.89% जबकि पुरुष 65.11% कोरोना संक्रमित हैं। इस हिसाब से देश में कोरोना संक्रमित महिलाओं के आंकड़े के मुकाबले पुरुषों की संख्या दोगुना है।

ये भी पढ़ें… न्यू कपल दें ध्यानः आपकी इस हरकत पर है कड़ी नजर, आएंगे ये पेंचो खम

आंकड़ें बेहद भयावह

ऐसे में कोरोना के इन आंकड़ों को देखें तो उम्र के हिसाब से सबसे ज्यादा 19 साल से 35 साल के लोग कोरोना के शिकार हो रहे हैं। 19- 35 साल की उम्र के 33.12% लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इन संक्रमितों की संख्या 262945 है। जबकि इसके बाद 35 से 50 साल की उम्र के लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनकी तादात 219177 है यानी 27.61 % है।

इसके साथ ही 50 से 65 साल की उम्र के लोग भी कोरोना महामारी से बड़ी तादात में संक्रमित हुए हैं। इनकी संख्या 180111 है मतलब 22.69% है। वहीं 65 साल के ऊपर कोरोना संक्रमितों की संख्या अब तक कुल 612723 है। मतलब की ये कुल पॉजिटिव मामलों का 7.72% है।

ये भी पढ़ें…Vikas Dubey का शव लेने से परिजनों ने किया इनकार, वजह जान चौंक जाएंगे

ये है चौंकाने वाली रिपोर्ट

बच्चों यानी 10 से 18 साल की उम्र के संक्रमितों की देश मे संख्या 39632 है। ये अब तक के कुल मामलों का 4.99 % है। जबकि सबसे कम 10 साल से कम उम्र के बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए हैं। देशभर में अब तक 10 साल से कम उम्र के 30664 बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए हैं। मतलब की अब तक के कुल पॉजिटिव मामलों का 3.86 % है।

अब इन हालातों में ये आकंड़ा चौकाने वाला है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधीन आने वाली एक संस्था इंटीग्रेटेड डिसीज सर्वेलैंस प्रोग्राम(IDSP) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना से मरने वाले 43% मरीजों को पहले कोई बीमारी नही थी। जिसमें 50% से ज्यादा 60 साल से कम उम्र के लोग थे।

बता दें, IDSP ने 15962 मौतों के आंकलन के आधार पर रिपोर्ट तैयार की। ऐसे में मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हृदय रोग, कैंसर, सांस सम्बन्धी बीमारी से जूझ रहे लोगों को कोरोना होने पर खतरा ज्यादा रहता है। देश में इस तरह कोरोना के मरीजों का आकंड़ा बढ़ना काफी चिंताजनक है।

ये भी पढ़ें…विकास दुबे एनकाउंटरः मामले में नया मोड़, मानवाधिकार आयोग से जांच की मांग

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।