कोरोना फैलाने के लिए जमाती कर रहे ऐसे घिनौने काम, पुलिस ने दर्ज किया केस

जमात में शामिल हुए लोग इस बीमारी को फैलाने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं। दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 16B के दिल्ली सरकार के क्वारनटीन सेंटर में यूरिन से भरी बोतलें फेंकी गई हैं।

नई दिल्ली: दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी जमात के मरकज से कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद जमात के संदिग्ध मरीजों को अलग-अलग क्वारनटीन किया गया है। क्वारनटीन किए गए जमातियों का दुर्व्यवहार लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले दिनों जमातियों ने कोरोना वायरस फैलाने के उद्देश्य से पुलिस व लोगों पर थूका था। अब खबर है कि जमातियों ने यूरिन से भरी बोतलें फेंकी हैं।

बीमारी फैलाने के लिए फेंकी गईं बोतलें!

कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है और इस रोकने के उद्देश्य से केंद्र से लेकर राज्य सरकारें हर संभव प्रयास करने के जुटी हुई हैं। वहीं जमात में शामिल हुए लोग इस बीमारी को फैलाने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं। दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 16B के दिल्ली सरकार के क्वारनटीन सेंटर में यूरिन से भरी बोतलें फेंकी गई हैं। इन बोतलों को फेंकने का आरोप फ्लैट नम्बर 109 से 112 में रुके जमातियों पर लगाया जा रहा है। यह घटना मंगलवार शाम 6 बजे की है।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस: PM मोदी आज पार्टियों के फ्लोर लीडर्स से करेंगे बातचीत, इन मुद्दों पर…

पुलिस ने दर्ज की FIR

यूरिन से भरी यह बोतलें फ्लैट के पीछे पानी के पम्प के पास से बरामद की गईं हैं। माना जा रहा है कि कोरोना फैलाने के मकसद से यूरिन की बोतलें फेंकी गई हैं। क्वारनटीन सेंटर में तैनात सिविल वॉलिंटियर्स ने इसकी जानकारी दी। इस मामले में FIR दर्ज कर ली गई है। दिल्ली के द्वारका नार्थ पुलिस थाने में क्‍वारनटीन सेंटर के असिस्टेंट डायरेक्टर की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: शब-ए-बारात पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की अपील, कहा- घरों में ही करें इबादत

देश में अब तक कोरोना से 4789 लोग संक्रमित

गौरतलब है कि पूरा देश इस वक्त कोरोना वायरस के प्रकोप से जूझ रहा है। देश में लगातार कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अब तक COVID-19 से 4789 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 124 लोगों की मौत भी हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के कुल 508 मामले सामने आ चुके हैं। इस दौरान 13 लोगों की मौत भी हुई है। हालांकि राहत की बात ये है कि अब तक 353 लोग रिकवर हो चुके हैं और हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।

बढ़ सकता है Lockdown

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों तक लॉकडाउन किया गया है, जिसकी अवधि 14 अप्रैल को खत्म होने वाली है। लेकिन कुछ राज्य लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने के पक्ष में हैं। सूत्रों के मुताबिक कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार लॉकडाउन को बढ़ाने पर विचार कर रही है।

यह भी पढ़ें: कोरोना से निपटने के लिए मोदी सरकार के इस मंत्री ने किया ये बड़ा दावा