×

चुनाव वाले राज्यों में तेजी से फैल रहा कोरोना, क्या करेगी सरकार

भारत में 1 करोड़ 16 लाख संक्रमण के मामले आए हैं और 1 लाख 60 हज़ार मौतें हुई हैं। लेकिन एक दिन 53 हजार ताजा मामलों के साथ ब्राजील एक नंबर पर है तो अमेरिका 45 हजार मामलों के साथ दूसरे नंबर पर और भारत चालीस हजार से अधिक मामलों के साथ तीसरे नंबर पर चुका है।

Newstrack
Updated on: 23 March 2021 1:30 PM GMT
चुनाव वाले राज्यों में तेजी से फैल रहा कोरोना, क्या करेगी सरकार
X
एक दिन में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामलों में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर आ गया है। ये एक बड़े खतरे की ओर इशारा है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

रामकृष्ण वाजपेयी

नई दिल्ली: एक दिन में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामलों में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर आ गया है। ये एक बड़े खतरे की ओर इशारा है। ब्राजील और अमेरिका के बाद भारत वर्तमान में तीसरे नंबर पर है। देश में कोरोना संक्रमण के ताजा मामले 40715 हैं। और लगभग दो सौ लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में कोरोना के तीन करोड़ मामले हो चुके हैं और साढ़े पाँच लाख से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि ब्राज़ील में 1 करोड़ 20 लाख संक्रमण के मामले अब तक सामने आए हैं और दो लाख 93 हज़ार मौतें हुई हैं।

ये भी पढ़ें...लोकसभा में पास हुआ वित्त विधेयक 2021

भारत तीसरे नंबर पर

भारत में 1 करोड़ 16 लाख संक्रमण के मामले आए हैं और 1 लाख 60 हज़ार मौतें हुई हैं। लेकिन एक दिन 53 हजार ताजा मामलों के साथ ब्राजील एक नंबर पर है तो अमेरिका 45 हजार मामलों के साथ दूसरे नंबर पर और भारत चालीस हजार से अधिक मामलों के साथ तीसरे नंबर पर चुका है।

चिंता की बात यह है कि चुनाव वाले राज्यों में पश्चिम बंगाल से कोरोना मामलों का लगातार ताजा अपडेट नहीं मिल रहा है। हाल में आई खबरों में कहा गया था कि पश्चिम बंगाल में कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है। जिसमें 500 से अधिक कोरोना के नए मामले आने की बात कही गई थी।

corona test फोटो-सोशल मीडिया

हालात बेकाबू

ममता सरकार पर कोरोना के मामले छिपाने का आरोप भी लगता रहा है। बावजूद इसके इस चुनावी राज्य में कोरोना को लेकर संवेदनशील तरीके से नहीं निपटा जा रहा है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल लोगों की ट्रेसिंग जांच की व्यवस्था भी कारगर ढंग से नहीं हो रही है। और केंद्र सरकार के निर्देशों पर भी अमल नहीं किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें...AAP सांसद ने SSC की भर्तियों पर उठाए सवाल, कहा- CGL भर्तियां अभी तक लंबित

ममता सरकार की यह लापरवाही अन्य राज्यों में कोरोना फैलने का कारण भी बन सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही चिंता का इजहार करते हुए कह चुके हैं कि अगर गांवों में कोरोना फैलता है तो हालात बेकाबू हो सकते हैं।

कोरोना चेकिंग फोटो-सोशल मीडिया

केरल में कोरोना 1239 ताजा मामले सामने आए हैं। राज्य के कई जिलों जैसे कन्नूर, कोझिकोड, कोल्लम, एरनाकुलम और वायनाड में सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। चुनाव के दौरान लोगों को संक्रमण फैलने से बचाना राज्य सरकार की बड़ी चुनौती होगी।

सरकारें लॉकडाउन के विकल्प से बचना चाहती

तमिलनाडु में भी कोरोना मरीजों का ग्राफ चढ़ रहा है और पिछले 24 घंटों में 1385 मामले सामने आए हैं जिसमें दस लोगों की मौत हो चुकी है। यूनाइटेड किंगडम से तमिलनाडु लौटे 37 यात्री कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा 20 लोग लोगों से संपर्क में आने के बाद संक्रमण का शिकार हुए हैं।

इन यात्रियों में चेन्नई में नौ मामले, तंजावुर और नीलगिरी में तीन-तीन मामले, मदुरा और चेंगलपट्टू में पांच पांच मामले तथा सात त्रिची में और थेनी, नागापट्टीनम, कोयम्बटूर, करूर और विरुधनगर का एक एक मामला है। इसके अलावा संपर्क में आने से संक्रमित हुए लोगों में छह चेन्नई, तीन तंजावूर, दो दो थेनी और नीलगिरी,चार चेंगलपट्टू और तीन नागपट्टिनम से हैं।

चुनाव वाले राज्यों में जिस तेजी से कोरोना फैल रहा है उससे हालात चिंता जनक स्थिति की ओर इशारा कर रहे हैं। यह सही है कि चुनाव को देखते हुए सरकारें लॉकडाउन के विकल्प से बचना चाहती हैं लेकिन चुनाव के पहले कोरोना विस्फोट को रोकना अपरिहार्य हो गया है।

ये भी पढ़ें...महाराष्ट्र सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री, बोले- राज्य में विकास नहीं, हो रही है वसूली

Newstrack

Newstrack

Next Story