×

महाराष्ट्र सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री, बोले- राज्य में विकास नहीं, हो रही है वसूली

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी पुलिस कमिश्नर द्वारा लिखा गया कि राज्य के गृह मंत्री ने मुंबई से 100 करोड़ रुपये महीना वसूली का टारगेट तय किया है। उन्होंने कहा कि जब एक मंत्री का टारगेट सौ करोड़ रुपये है तो अन्य मंत्रियों का कितना होगा?

Shreya
Updated on: 23 March 2021 12:17 PM GMT
महाराष्ट्र सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री, बोले- राज्य में विकास नहीं, हो रही है वसूली
X
महाराष्ट्र सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री, बोले- राज्य में विकास नहीं, हो रही है वसूली
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: वसूली प्रकरण के चलते महाराष्ट्र की सियासत में घमासान बढ़ता ही जा रहा है। साथ ही इसे लेकर विपक्षी दल उद्धव ठाकरे सरकार पर लगातार हमलावर है। इस बीच केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने आज यानी मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कहा कि महाराष्ट्र में जो हो रहा वो 'विकास' नहीं 'वसूली' है।

भारत के इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी पुलिस कमिश्नर द्वारा लिखा गया कि राज्य के गृह मंत्री ने मुंबई से 100 करोड़ रुपये महीना वसूली का टारगेट तय किया है। उन्होंने आगे कहा कि जब एक मंत्री का टारगेट सौ करोड़ रुपये है तो अन्य मंत्रियों का कितना होगा?

यह भी पढ़ें: भराभराकर गिरी इमारत: मलबे में दबे कई मजदूर, 2 की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कुछ डॉक्यूमेंट्स के साथ कहा कि ट्रांसफर और पोस्टिंग के नाम पर भी वसूली की जा रही थी। महाराष्ट्र जैसे राज्य में बड़े अधिकारियों की पोस्टिंग में जब वसूली हो रही है तो हमें लगा कि मुख्यमंत्री भी कार्रवाई करेंगी। लेकिन ऐसा करने के बजाय एक ईमानदारी महिला अधिकारी को सिविल डिफेंस का डीजीपी बना दिया गया।

मालिक की मौत की जांच क्यों नहीं?

एंटीलिया केस का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि सचिन वाजे सस्पेंड चल रहा था। लगभग 15-16 सालों तक वो शिवसेना का सदस्य बनता है। फिर उसे कोरोना काल में रीइंस्टेट करते हैं। उसके बाद वाजे को ही 100 करोड़ वसूली का टारगेट दे दिया जाता है। एक बिजनेस मैन के घर के बाहर गाड़ी मिलती है, जिसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) कर रही है। लेकिन उस गाड़ी का तथाकथित मालिक जो मृत पाया जाता है, उसकी जांच क्यों रोकी जा रही है?

यह भी पढ़ें: बहूरानी से राजनीति तक का सफर: रील नहीं रियल लाइफ में भी हिरोइन साबित हुई स्मृति ईरानी

ANIL DESHMIKH (फोटो- ट्विटर)

शरद पवार पर साधा निशाना

यही नहीं उन्होंने शरद पवार पर भी निशाना साधा और कहा कि मैं शरद पवार से पूछना चाहूंगा कि आप कृपया देश को बताएं कि गलत तथ्यों के आधार पर आपको गृहमंत्री देशमुख का बचाव क्यों करना पड़ा? आपको बता दें कि अनिल देशमुख पर लगे आरोपों पर एनसीपी प्रमुख ने उनका बचाव किया था, लेकिन इस बीच सोशल मीडिया पर एक दस्तावेज वायरल हो रहा है।

जिसके मुताबिक, देशमुख ने 15 फरवरी को प्राइवेट प्लेन से नागपुर से मुंबई तक की यात्रा की थी। इस दस्तावेज के बाद खुद पवार सवालों के घेरे में आ गए हैं। स बीच गृहमंत्री अनिल देशमुख ने वीडियो ट्वीट कर इस मामले में सफाई दी और कहा बीते कुछ दिनों से इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में मेरे बारे में कई गलत खबरें चल रही हैं।



यह भी पढ़ें: पवार का झूठा दावा! 15 फरवरी को यहां थे देशमुख, हुआ खुलासा, गृहमंत्री ने दी सफाई

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story